सर्दी-जुकाम एवं वायरल बुखार के ज्यादा मरीज

जमनालाल यादव पत्रकार

छबड़ा, छबड़ा क्षेत्र में बढती सर्दी के कारण उपचार के लिए राजकीय चिकित्सालय मे प्रतिदिन सर्दी-जुकाम, वायरल बुखार सहित सामान्य बीमारियों के 700 रोगी पहुंच रहे हैं। सर्दी बढ़ने का असर लोगो की सेहत पर देखने को मिला हैं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार मौसम ठंड़ा होने से वायरल, सर्दी जुकाम संबंधी बीमारियां जोर पकड़ने लगी हैं। पालिका क्षेत्र सहित ग्रामीण अंचल मे रोगियो की संख्या मे इजाफा हुआ है। एवं इन दिनों वायरल बुखार, सर्दी जुकाम, उल्टी-दस्त, पेट दर्द के रोगियो की भीड़ चिकित्सालय मे देखी जा रही है। चिकित्सालय के अलावा निजी क्लिनिको पर भी मरीजो की संख्या मे इजाफा हुआ है। चिकित्सालय मे पहुंचने वाले रोगियो मे बच्चे एवं बुजुर्गा की संख्या अधिक है। बच्चो में अधिकतर सर्दी-जुकाम के पीड़ित ज्यादा आ रहे हैं तो वही बुजुर्गो मे जोड़ो का दर्द बढ़ने और बुखार की शिकायत के मरीजो की संख्या मे बढ़ोत्तरी हुई हैं। मौसमी बीमारियों से पीड़ित मरीजो की भीड़ सुबह से ही चिकित्सालय परिसर मे देखने को मिल रही हैं। गत एक सप्ताह से बढ़ी सर्दी के कारण चिकित्सालय परिसर के बाहर लगे निःशुल्क दवाई वितरण केंद्र पर महिला-पुरूषो की पृथक-पृथक कतारे लग रही हैं।
बच्चो मे होने लगी निमोनिया की शिकायतः- सर्दी बढ़ने के बाद खांसी, जुकाम, बुखार के साथ निमोनियां की चपेट मे आने वाले बच्चो की संख्या मे इजाफा हो रहा है। आम तौर पर बुखार या जुकाम होने के बाद ही निमोनिया होता हैं। तथा निमोनिया होने से बच्चो को सांस लेने मे काफी परेशानी का सामना करना पड़ता हैं। इसलिए इस बीमारी को गंभीरता से लेते हुए उचित उपचार करवाने की सलाह चिकित्सको द्वारा दी जा रही हैं। क्योकि यह बीमारी कभी-कभी गंभीर रूप ले सकती हैं।
सर्दी की चपेट मे बुजर्गः- सर्दी का मौसम आते ही बुजुर्गो की सेहत भी बिगड़ने लग जाती हैं। इसके चलते बुजर्ग मरीजो की संख्या मे प्रतिदिन इजाफा हो रहा हैं। इसके चलते प्रतिदिन लगभग 250 बुजर्ग मरीज चिकित्सालय मे उपचार करने पहुंच रहे हैं। सर्दी के मौसम मे बुजर्गो को खांसी-जुकाम, बुखार, जोडो का दर्द, दिल का दौरा पड़ना, उच्च रक्तचाप, हाई अटैक आदि बीमारियां बढ़ जाती हैं। एवं सर्दी के मौसम मे अस्थमा एवं ह्दय व बीपी के रोगियो के लिए ज्यादा बीमारियां बढ़ जाती हैं।
इस मामले में चिकित्सा प्रभारी डॉ. हरिओम गोयल ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा मरीजो को दी जा रही दवाईयो मे 447 प्रकार की दवाईयों मरीजो को दी जा रही हैं। तथा राजकीय चिकित्सालय मे प्रतिदिन लगभग 700 मरीज विभिन्न प्रकार की बीमारियों के पहुंच रहे है इनमें ज्यादातर खांसी-जुकाम, वायरल बुखार एवं सामान्य बीमारियों के मरीज शामिल हैं। किसी भी प्रकार की बीमारियों के प्रकोप से होने से इंकार किया हैं।