गत 40 वर्षो से छबड़ा मे स्थापित हैं बैंक

छबड़ा, बारां सहकारी भूमि विकास बैंक शाखा छबड़ा को छीपाबड़ौद की शाखा में विलय करने के विरोध में भाजपा नेताओ व एक दर्जन से अधिक किसानो ने जिला कलैक्टर के नाम का उपजिला कलैक्टर को ज्ञापन देकर इस बैंक को छबड़ा मे ही यथावत रखने की मांग की हैं।
भा

जपा नेता रितेश शर्मा ने बताया कि बारां सहकारी भूमि विकास बैंक की लगभग 40 वर्षो से छबड़ा कस्बे में शाखा स्थापित चली आ रही हैं। जिससे किसानों को विभिन्न प्रकार के कृषि एवं रोजगार से संबंधित ऋण मुहिया करवाकर क्षेत्र के किसानो को राहत देते आ रहे हैं। इस बैक द्वारा अब तक लगभग डेढ़ हजार से अधिक किसानो को करोड़ो रूपयो के कृषि व अन्य ऋण मुहिया करवा चुकी हैं। वर्तमान में इस शाखा में पांच करोड़ रूपयो से अधिक को लेनदेन होता आ रहा हैं। क्षेत्र की 27 ग्राम पंचायतो के लगभग 135 गांवो के किसानो को इस बैक द्वारा लाभांवित किया जा चुका हैं। किंतु बैंक अधिकारियों द्वारा छबड़ा मे स्थापित इस शाखा को यहां से हटाकर छबड़ा से 20 किलोमीटर दूर छीपाबड़ौद कस्बे में चल रही बैंक शाखा में विलय करने के आदेश दिए जा चुके हैं। छबड़ा कस्बे मे चल रही इस बैंक की शाखा को बंद करने से किसानो को लेन देन नोड्यूस इत्यादि कार्यो के लिए परेशानी उठानी पड़ेगी। किसानो के हितो को ध्यान मे रखते हुए इस बैंक को यथावत ही रखने की मांग का ज्ञापन जिला कलैक्टर के नाम का उपजिला कलैक्टर हेमराज परिड़वाल को सौंपा।