चार ट्रेन निरस्त एवं दो ट्रेनो का मार्ग परिवर्तन

जमनालाल यादव पत्रकार

छबड़ा, कोटा रेल मंडल द्वारा कोटा रूठियाई रेल खण्ड़ के बारां-सालपुरा रेल खण्ड के मध्य पटरियो के दोहरीकरण निर्माण कार्य के चलते कोटा से इंदौर के मध्य चलने वाली 22983 एवं इंदौर से कोटा के मध्य चलने 22984 इंटरसिटी एक्सप्रेस ट्रेन नही आने से मुसाफिरो को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा वही गत सौलह दिसंबर से बीस दिसंबर तक चार ट्रेन निरस्त एवं दो ट्रेनो के मार्ग मे हुआ परिवर्तन इन दिनो परेशानी का सबब बनी हुई हैं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार कोटा रेल मण्ड़ल द्वारा कोटा रूठियाई रेल खण्ड़ के बारां-सालपुरा रेल खण्ड के मध्य पटरियो के दोहरीकरण कार्य के तहत प्रि नॉन इन्टर लोकिंग एवं नॉन इन्टर लोकिंग कार्य करने होने के कारण मंगलवार को कोटा से इंदौर के मध्य चलने वाली 22983 एवं इंदौर से कोटा के मध्य चलने 22984 इंटरसिटी एक्सप्रेस ट्रेन नही आने से मुसाफिरो को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। एवं ट्रेन रद्द होने की जानकारी के अभाव में यात्रियों का रेलवे स्टेशन पर जमावड़ा लग गया जैसे ही ट्रेन रद्द होने की सूचना यात्रियो को मिली तो मुसाफिर रेल्वे स्टेशन से निराश लौटते नजर आए। वही प्रतिदिन छबड़ा से बारां एवं छबड़ा से कोटा तथा अन्यत्र स्थान के लिए अप-डाउन करने वाले लोगो को काफी परेशानी उठानी पड़ी। इसी के साथ ही कोटा-इंदौर इंटरसिटी का छबड़ा आने का समय 8ः03 हैं जबकि यह ट्रेन गत 17 दिसंबर को 11ः00 बजे छबड़ा रेलवे स्टेशन पर पहुंची थी जिससे यात्री इधर-उधर भटकते नजर आए। मंगलवार को 22983 एवं 22984 इंटरसिटी एक्सप्रेस ट्रेन निरस्त हो जाने से कई लोगो को तो मजबूरन बस के द्वारा सफर करना पड़ा इसके चलते बस स्टैंड़ पर भी भीड़ नजर आई। ट्रेन निरस्त होने का सर्वाधिक प्रभाव ऐसे लोगो पर पड़ा जिनका आवागमन केवल ट्रेन पर निर्भर हैं। वहीं गत 16 दिसम्बर से आगामी 20 दिसम्बर तक कोटा से बीना जाने वाली एवं बीना से कोटा आने वाली तथा कोटा-भिण्ड़, भिण्ड़-कोटा यात्री गाड़ी बंद रहना इन दिनो स्थानीय लोगो के लिए परेशानी का सबब बना हुआ हैं। वहीं जोधपुर-भोपाल यात्री गाड़ी कोटा-नागदा होकर आने-जाने से भी यात्रियों को सफर करने मे काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा हैं।