एक दर्जन से अधिक मतदान केंद्रों पर ईवीएम मशीन खराब होने से देरी से शुरू हुई मतदान प्रक्रिया

छबड़ा, छबड़ा-छीपाबड़़ौद विधानसभा क्षेत्र में लगभग 78 प्रतिशत मतदाताओ ने अपने मत का प्रयोग कर उम्मीदवारो का चुनावी भाग्य मत पेटी मे बंद किया। मतदान समाप्त होने तक एक दर्जन से अधिक मतदान केंद्रो पर लम्बी लाईने लगी हुई थी जहां पर 6 बजे तक मतदान चल रहा था। वही क्षेत्र के गांव पाली एवं छीपाबड़ौद क्षेत्र के गांव सूखनेरी के मतदाताओ द्वारा आधे दिन तक मतदान का बहिष्कार किया। वही लगभग एक दर्जन से अधिक मतदान केंद्रो पर ईवीएम मशीने खराब होने के कारण मतदान प्रक्रिया विलंब से चली।

शुक्रवार को विधानसभा चुनाव के लिए हुए मतदान में प्रातः नौ बजे तक मात्र 5 फीसदी ही मतदान हुआ। जिसके बाद मतदान करने वालो की लंबी कतारे लगने से मतदान का प्रतिशत धीमी गति से बढ़ता गया। जानकारी मिली कि छबड़ा क्षेत्र के गांव पाली मे बना मतदान केंंद्र दोपहर 12 बजे तक सूना पड़ा रहा। इस समय अवधि मे महज सात वोट ही पड़ने की खबर मिली। ग्रामीण मतदाताओ का कहना है कि उनके गांव में सड़क निर्माण नही करवाने से मतदाताओ ने मतदान का बहिष्कार करने का निर्णय लिया था। इसकी सूचना निर्वाचन विभाग को मिलने पर अधिकारी मौके पर पहुंचे और समझाईश के बाद मतदाताओ ने मतदान प्रक्रिया मे भाग लिया। इसी क्रम में छीपाबड़ौद गांव के सुखनेरी में स्थापित किए मतदान केंद्र भी आधा दिन तक सूना पड़ा रहा। ग्रामीणो का कहना हैं कि ग्राम पंचायत के किसानो को भूमि आवाप्ति का मुआवजा नही मिलने के कारण मतदान का बहिष्कार किया था इसकी सूचना मिलने पर छीपाबड़ौद उपजिला कलैक्टर ने मौके पर पहुंचकर मतदाताओ से बात-चीत कर उन्हे समझाईश करने के बाद मतदाताओ ने अपने मत का प्रयोग करना शुरू किया।

तथा एक स्थान पर पोन घंटे तक वीवीपेड मशीन ही नही लगाने की सूचना मिली हैं। क्षेत्र के कई मतदान केंद्रो पर नेत्रहीन एवं दिव्यांग मतदाताओ ने अपने मत का प्रयोग किया जहां पर उनके परिजन एवं मतदान कर्मी मतदान केंद्र पर लाए। शहरी क्षेत्र की अपेक्षा ग्रामीण क्षेत्र मे मतदाताओं का मतदान के प्रति उत्साह अधिक नज़र आया। अधिकांश मतदान केंद्रो पर मतदान करने वालो की लंबी कतारे लगती हुई देखने को मिली तो कुछ मतदान केंद्रो पर एक-दो मतदाता मतदान करने पहुंचे। तथा छीपाबडौद क्षेत्र के गणेशपुरा में सर्वाधिक 93.63 प्रतिशत एवं छबड़ा क्षेत्र के पाली मे सबसे कम 46.34 प्रतिशत मतदान हुआ। समाचार लिखे जाने तक छीपाबडौद मे अधिक मतदान हुआ वहीं छबड़ा क्षेत्र मे कम मतदान रहा। विधानसभा क्षैत्र के शहरी क्षैत्र से ग्रामीण क्षैत्र मे मतदाताओ का मतदान के प्रति अधिक रूझान देखने को मिला। छबड़ा क्षैत्र के निपानियां के 208 मतदान केन्द्र पर 12ः30 बजे ही 761 में 411 वहीं 209 मतदान केन्द्र पर 719 मे से 375 मतदाताओ ने, मोरेली मतदान केन्द्र पर 12ः45 पर 752 मे से 336, हिंगलोट मतदान केन्द्र पर 1ः00 बजे तक 368 मे से 201 ने, बिशनखेड़ा में 1ः10 बजे 868 मे से 336 ने, मदनाखेडी में 1 बजे तक 1151 मे से 411 ने, पाली में मतदान के बहिष्कार के चलते 12ः30 बजे मतदान शुरू हुआ इसके चलते यहां पर 2 बजे तक मात्र 20 प्रतिशत मतदान हुआ, मोतीपुरा भाग संख्या 259 पर 2ः15 बजे 1152 मतदाताओ मे से 543 मतदाताओ ने, मध्यप्रदेश की सीमा से सटे बामला जागीर मतदान केन्द्र पर 2ः30 बजे तक 899 मे से 398 ने, इब्राहिमपुर जदीद मे 3 तक 703 मे से 568 मतदाता मतदान कर चुके थे तथा यहां पर उस समय तक 80 प्रतिशत मतदान हो चुका था। फलिया मे 3ः10 बजे 1045 मे से 648 मतदाताओ ने, कडैयाहाट में 3ः30 बजे 1226 मे से 777 मतदाता मतदान कर चुके थे तथा यहां पर महिला पुरूषो की लम्बी लाईने लगी हुई थी। बापचा में 237 मतदान केन्द्र पर 3 बजे तक 978 मे से 675 ने एवं मतदान केन्द्र 238 पर 1038 मे से 655 मतदाता अपने मत का प्रयोग कर चुके थे।