मांग के अनुरूप खाद नही पहुंचने से किसानो मे रोष
पांच दिन से नही आया यूरिया खाद

जमनालाल यादव पत्रकार

छबड़ा, छबड़ा में पांच दिन से एक भी खाद का कट्टा नही आने से किसान दर-दर भटकने को मजबूर हो गए हैं। किसान भूख-प्यासे रहकर लंबी-लंबी कतारो मे लगने के बाद भी उन्हे खाद के कट्टो से वंचित रहना पड़ रहा हैं। किसानो को आवश्यकता के अनुरूप खाद नही मिलने के कारण उनके चेहरो पर मायूसी छाई हुई हैं।


उपलब्ध जानकारी के अनुसार क्षेत्र मे इन दिनो रबी की फसल की बुवाई करने का समय चल रहा हैं। इसमें यूरिया खाद की आवश्यकता पड़ती हैं। आवश्यकतानुसार ग्रामीण किसान वाहनो में किराए से बैठकर गांव से पालिका क्षेत्र मे यूरिया खाद लेने के लिए आ रहे हैं, इतना ही नही खाद लेने के लिए किसान क्रय-विक्रय सहकारी समिति एवं कस्बे की खाद की दुकानो पर लंबी कतारो मे लगकर इंतजार करते रहते थे जिसके बावजूद भी उन्हे बैरंग ही लौटना पड़ रहा हैं। क्योकि उन्हे जबाब मिलता हैं कि खाद की रेक अभी नही पहुंची हैं इस कारण खाद मुहिया नही हो पाएगा। यूरिया खाद लेने के लिए पुरूषो के साथ महिलाएं भी लंबी-लंबी कतारो मे खड़ी होकर खाद मिलने का इंतजार करती नजर आ रही हैं जिसके बावजूद भी उन्हे निराश ही हाथ लग पा रही हैं।

क्रय-विक्रय समिति के सहायक व्यवस्थापक बृजमोहन चौरसिया ने भी यूरिया खाद की किल्लत होने की बात स्वीकारते हुए कहा कि तीन सप्ताह से यह समस्या लगातार चल रही हैं। उन्होने कहा कि माह अक्टूबर में दो हजार टन यूरिया खाद की मांग उच्च अधिकारियो से की थी किंतु 11 सौ 60 टन ही यूरिया खाद उन्हे मिला जिसे किसानो को वितरण करवाया गया। इसी प्रकार माह नवम्बर में भी दो हजार टन यूरिया खाद की मांग थी किंतु मांग के अनुरूप उन्हे केवल 14 सौं 37 टन ही खाद भेजा गया। जिसे किसानो को 266 रू. 50 पैसे प्रति कट्टे के हिसाब से वितरण किया गया। उन्होने यह भी बताया कि माह दिसंबर में एक हजार टन खाद की मांग की थी किंतु 5 दिन गुजर जाने के बाद सहकारी समिति को एक भी खाद का कट्टा नही भेजा जिसके कारण किसानो को समय पर खाद नही दिया जा सका। कृषि विभाग के कृषि अधिकारी चौथमल मीणा ने बताया कि रबी की फसल के लिए सात हजार दौ सो टन यूरिया खाद की मांग की गई थी किंतु उच्च अधिकारियो द्वारा अभी तक 4 हजार टन खाद ही भेजा था। जिसे किसानो को पोश मशीन मे अंगूठा लगाकर आधार कार्ड व राशन कार्ड अनिवार्य करते हुए वितरण किया। उन्होने यह भी बताया कि 12 सौ टन यूरिया खाद का वितरण पालिका क्षेत्र के अनुज्ञापत्र धारी दुकानदारो की दुकानो पर कृषि पर्यवेक्षको की मौजूदगी में वितरण किया। किसानो ने बताया कि इन दिनो रबी की फसल गेहूं की बुवाई में एक बीघा मे एक खाद का कट्टा की जरूरत होती हैं जिसे लेने के लिए भी उन्हे पूरे दिन मशक्कत करने के बावजूद भी खाद का कट्टा मुहैया नही हो पा रहा हैं।