जयपुर – एम.पी.हस्तशिल्प प्रदर्शनी शासन मृगनैनी पं.लच्छू महाराज की शिष्या डॉ. दिव्या शर्मा के निर्देशन में लखनऊ घराने और बृजकिशोर श्रीवास्तव के निर्देशन में जयपुर घराने के प्रस्तुति की गई
भारतीय शास्त्रीय नृत्य कथक में जयपुर और लखनऊ घराने की परिस्थिति और इसमें प्रस्तुति में अतुल्य संस्कृति एवं इंदिरा गांधी संस्थान नई दिल्ली के तत्वाधान में नृत्यांशी कला सोसाइटी के द्वारा शास्त्रीय नृत्य की प्रस्तुति की गईं

जिसमे जीतेन्द्र कौशल ने लखनऊ घराने का कत्थक प्रस्तुत किया
कत्थक जयपुर घराने की प्रस्तुति रही
नृत्यांशी श्रीवास्तव , चित्रांशु श्रीवास्तव ने बेटी बचाओ (कत्थक नृत्य नाटिका ) प्रस्तुत कर समाज को बेटी बचायो अभियान से अवगत कराया ।

अरबाज़ खान ने कत्थक गति लहर पंच देव एस्तुति करते हुए आमद, चक्रदार तोड़े ,परन , फरमाइशी बंदिशे 26 चक्कर और लड़ी को प्रस्तुत किया।

चित्रांशु श्रीवास्तव ने हनुमंत स्तवन से शुरुआत करते हुए राधा किशन की छेड़ छाड़ के अंदाज़ में ठाट , आमद , तिहाई, उठान, परन ,17 चक्कर , पखावज व तबले के साथ जुगल बन्दी से दर्शकों का मन मोह लिया
नृत्यांशी कला सोसाइटी की सचिव प्रीती श्रीवास्तव ने डॉ दिव्या शर्मा को ध्यानवाद दिया