लूटे गए बैग एवं हिसाब की ड़ायरी के अधजले कागज एवं बाईक की बरामद

छबड़ा। छबड़ा में दिन-दहाड़े एक व्यापारी से हुई लूट के आरोप में पुलिस रिमांड पर चल रहे आधा दर्जन आरोपियों से रिमांड़ के दौरान लूटे गए बैग एवं हिसाब की ड़ायरी के अधजले कागज एवं प्रयुक्त मे ली गई बाईक भी बरामद कर ली हैं। आरोपियो की रिमांड़ अवधि पूरी होने पर उन्हे अदालत मे पेश किया जहां उन्हे न्यायिक अभिरक्षा मे भिजवा दिए हैं।

सर्किल इंस्पेक्टर ताराचंद ने बताया कि गत 14 नवम्बर को छबड़ा निवासी चन्द्रप्रकाश जैन से दिन दहाड़े वसूली के करीब 2.50-3.00 लाख रूपए की वसूली कर एक बैग को लूटेरे लूट कर मौके पर से फरार हो कर पहाड़ी पर चढ गए थे। पुलिस ने इस घटना का चौबीस घंटे मे पर्दाफाश करते हुए इस आरोप में नितेश (19) उर्फ सड़िया पुत्र बबलू वाल्मिकी, दीपक पुत्र रामभरोस वाल्मिकी, सावन (19) पुत्र रामदयाल वाल्मिकी निवासीगण अलीगंज, सोनू (20) पुत्र राजू वाल्मिकी, मोनू (19) पुत्र सुगन वाल्मिकी, देवलाल (20) पुत्र रेवड़ीलाल वाल्मिकी निवासीगण जैन धर्मशाला के पास शिव कॉलोनी को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से लूटी गई राशि 1,01500 रु. बरामद भी कर ली गई थी। गिरफ्तार आरोपियो से पूछताछ के लिए पुलिस ने न्यायालय मे पेश किया जहां न्यायिक मजिस्ट्रेट ने सभी आरोपियो को पांच दिन का पुलिस रिमांड दिया था। रिमांड़ के दौरान तथा लूटे गये बैग एंव उसमें रखी हिसाब की डायरी को जला दिया। आरोपियों ने बैग व ड़ायरी को जलाया था उस स्थान को जांच करवाकर पुलिस ने मौके पर से अधजले कागज के टुकडे बरामद कर लिए हैं एवं जलाए गए स्थान की फोटोग्राफी करवाई गई। आरोपी सोनू द्वारा घटना में प्रयुक्त की गई बाईक को गांव बाहरी मे उसके भाई के घर रखवा दिया था। बाईक भी को बरामद कर लिया। आरोपियो की मंगलवार को रिमांड़ अवधि पूरी होने पर उन्हे अवकाशकालीन मजिस्ट्रेट बारां में पेश किया जहां से न्यायिक मजिस्ट्रेट ने उन्हे न्यायिक अभिरक्षा में भिजवा दिया गया है।