जयपुर- एस एम एस हॉस्पिटल जयपुर के ट्रोमा सेंटर के एक्सरे विभाग में मंगलवार रात्रिकालीन ड्यूटी के दौरान रेडियोग्राफर्स ट्रेनीज और ड्यूटी स्टाफ के साथ अभद्रता एवम मारपीट की गई रेडियोग्राफर ट्रेनीज तेजपाल सांखला ने बताया कि गुरुवार की रात एक बजे वह और सहायक रेडियोग्राफर्स सुरभी चौधरी डयूटी पर एक गम्भीर मरीज़ के एक्सरे कर रहे थे और मरीज़ एक्सरे टेबल पर ही लेटा हुआ था तथा उसके पूरे एक्सरे नही हुए थे

इसी दौरान हितेश नामक व्यक्ति आया जो खुद को मेडिकल छात्र बताते हुए उनके मिलने वालों के तुरंत एक्सरे करने को बोला इस पर रात्रिकालीन ड्यूटी स्टाफ एवम रेडियोग्राफर्स छात्र तेजपाल सांखला ने एक्सरे टेबल पर पहले से मौजूद गम्भीर मरीज़ के पूरे एक्सरे करने के बाद हितेश के मिलने वालों के एक्सरे करने की बात कही जिस पर मेडिकल छात्र हितेश उखड़ गए और गाली गलौच करते हुए बोले तुम मुझे नही जानते अभी बताता हु और बहस और गालीगलौच करने लगे जिस पर रात्रिकालीन ड्यूटी स्टाफ और रेडियोग्राफर्स ट्रेनीज ने उनको समझाया कि ऊक्त गम्भीर मरीज़ के एक्सरे होते ही तुरंत आपके एक्सरे कर देंगे मगर हितेश नामक व्यक्ति नही मानें और बोले कि अभी बताता हूं में कोंन हु फिर वो चले गए और बीस मिनट बाद होस्टल से चालीस से पचास लोगो को लेकर आये और मेरा कॉलर पकड़ कर मुझे घसीटते हुए बाहर ले आये और मेरे साथ मारपीट करने लगे जिससे में घायल हो गया और मुझे घायल अवस्था मे ही छोड़ कर भाग गए इस घटना के बाद सुबह रेडियोलोजी एवम रेडियोथेरेपी विभाग के रेडियोग्राफर्स ने ऊक्त घटना के विरोध में कुछ देर कार्य बहिष्कार किया तथा रेडियोग्राफर्स सोसायटी के महासचिव अनिल कुमावत एवम जयपुर जिला अध्यक्ष कृष्ण कुमार के नेतृत्व में समस्त रेडियोग्राफर्स एवम ट्रेनीज की तरफ से ऊक्त घटना का नियमानुसार विरोध दर्ज करवाया

रेडियोग्राफर सोसायटी के प्रदेश अध्यक्ष अहमद ने ऊक्त घटना की निंदा की है । इस अवसर पर अहमद ने कहा की चिकित्सा पेशा नोकरी के साथ साथ सेवा का पेशा है जिसमे पहली प्राथमिकता अति गम्भीर मरीज़ों की सेवा करना है और हम सभी अलग अलग संवर्ग मिलकर चिकित्सा पेशे में अपने अपने हिसाब से सेवा करते है चिकित्सा पेशे से जुड़े व्यक्तियों को थोड़ा पेशेंस रखना चाहिए इस प्रकार की घटनाये अच्छी बात नही ।