प्रसूताओं के स्वास्थ्य से किया जा रहा हैं खिलवाड़
मेडीसिन कन्ज्यूम रजिस्ट्रर पाया अपूर्ण
प्रसूताओं के परिजनों से बाजार से मंगवाए जा रहे हैं इंजेक्शन
मेड़िसीन स्टाॅक रजिस्ट्रर ताले में बंद बताया

छबड़ा। खंड मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा छबड़ा के राजकीय चिकित्सालय का रात्रि में किया औचक निरीक्षण के दौरान गंभीर अनियमितताएं पाई जाने पर चिकित्सा अधिकारी प्रभारी को कारण बताओं नोटिस थमा दिया हैं।

खंड मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. लेखराज मालव ने बताया कि उन्होनें रविवार रात्रि लगभग सात बजकर 25 मिनट पर राजकीय चिकित्सालय में पहुंचकर औचक निरीक्षण किया। इसके दौरान वे पुरूष वार्ड में पहुंचने पर मरीजों द्वारा उन्हे शिकायत की चिकित्सक द्वारा लिखे उपचार की नर्सिंग स्टाॅफ पालना नही कर मनमानी तरीके से मरीजो का उपचार किया जा रहा हैं। मौके पर मिले स्टाॅॅफ से उन्होनें इस मामले मे जानकारी ली तो वे उन्हे संतोषप्रद जबाब तक नही दे पाए। वार्ड को मेडीसिन कन्ज्यूम रजिस्ट्रर मांगने पर उक्त रजिस्ट्रर 21 अक्टूबर तक अपूर्ण पाया गया। चिकित्सक द्वारा दवाई न लिखने के उपरांत भी कुछ दवाईयां कन्ज्यूम रजिस्ट्रर में कन्ज्यूम होना पाया। जिसके बाद उन्होनें प्रसव कक्ष का किया औचक निरीक्षण प्रसव कक्ष के फ्रीज में एंटी स्नेक दीनम पाए गए, जबकि प्रसव के दौरान अति आवश्यक इंजेक्शन आॅक्सीटोसिन नही पाए गए। ड्यूटी पर तैनात प्रसाविका से इस मामले की जानकारी ली गई तो उन्होने बताया कि उक्त इंजेक्शन की अनुपलब्धता के कारण उक्त इंजेक्शन बाहरी मेडिकल स्टोर से मंगवाया जा रहा हैं। परंतु मेड़िकल स्टोर पर भी उक्त इंजेक्शन की कमी के चलते प्रसूताओं मुहिया नही हो पा रहा हैं। लेबर रूम का मेड़िसीन स्टाॅक रजिस्ट्रर मांगने पर उक्त रजिस्ट्रर लेबर रूम प्रभारी के पास ताले में बंद बताया। प्रसव कक्ष इंजेक्शन आॅक्सोटोसिन की कमी अनुभाग प्रभारी की गंभीर लापरवाही एवं प्रसूताओं के स्वास्थ्य से खिलवाड़ किया जाना प्रतीत हो रहा हैं। खंड़ मुख्य चिकित्सा अधिकारी मालव ने इन अनियमितताओं को गंभीरता से लेते चिकित्सा अधिकारी प्रभारी को कारण बताओं नोटिस थमा दिया हैं। उन्हे निर्देशित किया कि भविष्य उक्त इंजेक्शन प्रचूर मात्रा मे उपलब्ध रहे व प्रसूताओं को किसी भी प्रकार की दवाई नही मंगवाये। एवं चिकित्सालय में सभी अनुभागों के गत तीन माह के मेडिसीन कन्ज्यूम एवं स्टाफ का फार्मसिस्ट द्वारा सत्यापन करवाया जाकर रिर्पोअ एक पखवाड़े में मांगी हैं।