लॉस्ट फाउण्ड पर्सन अभियान ने लौटाई दीपावली की खुशियाँ : दशहरे पर माँ को मिला नया जीवन

कोटा – बिछुड़े हुए लापता व्यक्तियों को अपने परिवारों से मिलाने के लिए निरन्तर प्रयासरत लॉस्ट फाउण्ड पर्सन अभियान और कोटा (राजस्थान) के अपना घर आश्रम के संयुक्त प्रयासों ने 10 माह से बिछुड़े हुए युवक को दशहरे के अवसर पर अपने परिवार से मिलाकर एक बार फिर यह साबित कर दिया है कि निःस्वार्थ सेवा ना तो भौगोलिक सीमाओं की मोहताज है और ना ही धर्म संप्रदायों के बंधनों की। दीपावली और दशहरे के माहौल में हिन्दू और मुस्लिम युवकों ने मिलकर राजस्थान में मिले उत्तर प्रदेश के युवक को उसके परिवार से मिला पाने में सफलता प्राप्त की।

लगभग 2 माह पूर्व कोटा में रेल्वे स्टेशन के पास प्रताप कॉलोनी में एक 25 वर्षीय युवक को लावारिस भटकता देखकर एक रेस्टोरेन्ट संचालक मोहम्मद युसूफ ने इसके परिवार की तलाश करने के लिए सोशल मीडिया का सहारा लेते हुए लॉस्ट फाउण्ड पर्सन अभियान के संस्थापक जयपुर निवासी राहुल शर्मा को सूचित किया। राहुल शर्मा की सूचना पर अपना घर आश्रम, कोटा की टीम ने इस युवक को बदहवास, बेसुधी और बीमारी की हालात में अपने संरक्षण में लिया। अपना घर में इस युवक का उपचार प्रारंभ किया गया और युवक की हालत में सुधार आने पर इसकी काउंसिलिंग की गई, तो शिवम नामक इस युवक के रायबरेली (उत्तर प्रदेश) निवासी होने का पता चला। इस पर लॉस्ट फाउण्ड पर्सन अभियान से जुड़े हुए अपना घर आश्रम, कोटा के अध्यक्ष धर्मनारायण दुब्बे तथा सदस्य अब्दुल कादिर और मनोज जैन ने संयुक्त प्रयास प्रारंभ किये और अंततः युवक के परिवार को खोज निकाला गया। युवक लगभग 10 माह पूर्व अपने परिवार से बिछुड़ गया था। शिवम की याद और चिन्ता में इसकी माँ का स्वास्थ्य लगातार खराब होता जा रहा था, लेकिन जैसे ही दशहरे के दिन परिवार को शिवम के सुरक्षित होने की खबर मिली, तो परिवार की खुशी का ठिकाना ही नहीं रहा और शिवम की माँ को तो जैसे नया जीवन ही मिल गया हो। खबर मिलते ही अगले ही दिन शनिवार को परिवार के सदस्य रायबरेली से कोटा पहुंचे और प्रत्येक मददगार व्यक्ति को ढेर सारी दुआऐं देते हुए शिवम को अपने साथ घर लेकर गये।

लॉस्ट फाउण्ड पर्सन अभियान के संस्थापक राहुल शर्मा ने इस मामले में विशेष सहयोगी मोहम्मद युसूफ, धर्मनारायण दुब्बे, मनोज जैन आदिनाथ और अब्दुल कादिर के विशेष आभार सहित अभियान के प्रत्येक सहयोगी का धन्यवाद ज्ञापित किया और प्रत्येक आम नागरिक से इस अभियान से जुडने की अपील भी की।