रावतभाटा- शिव सिंह चौहान (पत्रकार) भारत निर्वाचन आयोग ने प्रदेश में निष्पक्ष एवं पारदर्शी चुनाव करवाने के लिए कमर कस ली है। जिसके चलते प्रदेश भर में इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीनों के साथ वोटर वेरिफाइएबल पेपर ऑडिट ट्राइल का प्रदर्शन किया जा रहा है। जिसके अन्तर्गत बुधवार को पंचायत समिति भैंसरोड़गढ़ प्रांगण में मतदाताओं को सम्पूर्ण चुनाव प्रक्रिया एवं मतदान का व्यावहारिक ज्ञान ईवीएम तथा वीवीपेट के माध्यम से दिया गया। साथ ही मतदाताओं ने वीवीपैट के बारे में विभिन्न प्रकार के प्रश्न भी किए, जिनका ट्रेनर्स ने उचित जवाब दिया। इस बार वीवीपैट का उपयोग करने से मतदाता उसके द्वारा जिस उम्मीदवार के पक्ष में मत दिया गया है, उसका नाम, चुनाव चिन्ह एक पर्ची पर देख सकता है। यह पर्ची 7 सेकण्ड तक वीवीपैट की खिड़की से दिखाई देगी उसके बाद स्वतः कटकर वीवीपैट के ड्रॉप बॉक्स में गिर जाएगी। यह ड्रॉप बॉक्स सील्ड रहेगा।
सहायक निर्वाचन रजिस्ट्रीककरण पदाधिकारी एवं तहसीलदार श्रीकांत व्यास ने जानकारी देते हुए बताया कि विधानसभा चुनाव 2018 में निर्वाचन आयोग ने मतदाता को स्क्रीन पर अपना वोट दिखने की व्यवस्था की है, तथा लोगों को अफवाहों से दूर रहकर भयरहित मतदान करने की अपील की है।

उन्होने मतदाताओं से कहा कि हर मतदाता का मत लोकतंत्र को मजबूत बनाने के लिए महत्वपूर्ण है और उन्हें हर मुश्किल का सामना कर मतदान अवश्य करना चाहिए। उन्होंने ग्रामीणों से कहा कि वे ईवीएम के माध्यम से मतदान करने की प्रक्रिया की पूर्ण जानकारी एवं मतदान की पुष्टि वीवीपेट के माध्यम से करने की सुविधा को भी समझना है ताकि मतदान तिथि को वे इन सब चीजों से परिचित रहें। उन्होंने कहा कि जिले के दिव्यांगजनों के मतदान के लिए विशेष प्रयास किये जा रहे हैं साथ ही मतदान केन्द्रांे को भी बाधा रहित बनाये जा रहे हैं ताकि दिव्यांगजन सुगमता से मतदान कर सके। पंचायत समिति भैंसरोड़गढ़ प्रांगण में प्रधान सुश्री वीणा दशौरा, भैंसरोड़गढ़ ग्राम पंचायत के सरपंच कन्हैयालाल भील, पंचायत समिति सदस्य बलदेव सिंह गौड़, पंचायत समिति सदस्य श्रीमती अनिता मीणा, उपखंड के शिक्षकों, ग्रामीण महिलाओं पंचायत समिति कार्मिकों ने वोट डालकर वीवीपैट के बारे में जानकारी ली।