छबड़ा:- छबड़ा में डिप्लोमाधारी बेरोजगार आयुष नर्सेज ने प्रदेश की भाजपा सरकार पर आयुर्वेद चिकित्सा को दरकिनार करने का आरोप लगाया हैं। भाजपा सरकार द्वारा आयुर्वेद चिकित्सा को भूलने के कारण आम जनता को उचित लाभ नही मिल पा रहा हैं।

डिप्लोमाधारी बेरोजगार आयुष नर्सेज अनुराग भार्गव, पूजा मादावत, आशीष भार्गव, मनीषा मीना, मनीष चौधरी, अनिता भील, सोनू आदि ने बताया कि प्रदेश की भाजपा सरकार द्वारा गत दिनो मे लगभग सभी विभागो के रिक्त पदो को भरने के लिए ताबड़तोड़ भर्तीयां निकाल रही हैं और विज्ञप्तियां भी जारी की जा रही हैं। लेकिन आयुर्वेद विभाग पर सरकार का ध्यान तक नही हैं। इस विभाग में विगत पांच वर्षाे में नर्सेज के रिक्त पड़े हजारों पदो पर नियुक्ती नही हुई हैं। प्रदेश की भाजपा सरकार द्वारा आयुर्वेद चिकित्सा को दरकिनार करने के कारण आम जनता को योग एवं आयुष चिकित्सा पैंथियो का उचित लाभ नही मिल पा रहा हैं। कई वर्षो से अखिल भारतीय राज्य आयुष नर्सेज महासंघ द्वारा रिक्त पदो पर नर्सेज की भर्तीयां जारी करने की मांग को लेकर मुख्यमंत्री, शिक्षा मंत्री एवं विभाग के आला अधिकारियो को कई बार ज्ञापन दिए जा चुके है तथा विभाग द्वारा विगत एक वर्ष पूर्व इस समस्या पर अमल करते हुए 360 पदो पर भर्ती अभ्यर्थना राज्य सरकार को भेजी गई थी लेकिन अभी तक यह मामला अटका हुआ हैं। बेरोजगार आयुष नर्सेज द्वारा प्रदेश की मुख्यमंत्री, चिकित्सा मंत्री एवं आयुर्वेद विभाग के प्रमुख शासन सचिव से पुनः मांग की हैं कि आगामी विधानसभा चुनाव से पूर्व आयुष नर्सेज की जल्द से जल्द भर्ती जारी की जावे ताकि बेरोजगारी की मार झेल रहे हजारो आयुष नर्सेज को भी रोजगार का अवसर प्राप्त हो सके और आम जनता को आयुर्वेद चिकित्सा का उचित लाभ मिल सके।