★ रामगंजमंडी / अजयराज सिंह चौहान ★

★रामगंजमंडी क्षेत्र में तेजा दसमी बड़े धूमधाम से मनाई गई ,
जिसके चलते रामगंजमंडी शहर में तेजाजी की शोभायात्रा प्रमुख मार्गों से होकर तेजाजी के मंदिर पहुँची , वही शोभायात्रा में बडे़ बडे़ झंडे , घोड़े पर सवार बालक रूपी वीर तेजाजी की झांकी बना कर तेजाजी के गीतों की धुन में भक्ति नृत्य कर जयकारे के साथ शोभायात्रा बड़े धूमधाम से निकाली गए ,

★ लोकदेवता वीर तेजाजी का पर्व तेजादशमी होने के चलते रामगजमंडी के खैराबाद कस्बे में तेजा दसमी के अवसर पर विशाल मेले का आयोजन हुआ इस दौरान तेजाजी थानक एवं गांवो मे स्थित थानकों एवं मंदिरो में सुबह से ही श्रद्धालुओ का सैलाब उमड़ना प्रारंभ हो गया था। वहीं दर्शन करने के दौरान भक्तो ने विशेष पूजा अर्चना के साथ दूध, नारियल, अगरबत्ती, पताशे आदि अर्पित कर लोकदेवता तेजाजी के ढ़ोक लगाकर वर्ष भर जहरीले जीव-जंतुओ से रक्षा का वरदान मांगा एवं खुशहाली की कामना मांगी साथ ही प्रसादी चढ़ाने के लिए मेले में बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं की भीड़ देर रात तक चलती नजर आयी ,वही पूरे दिन भर मेले में गाँवो से दूर दूर से आये झंडे के मंडली मंडल की कतारें तेजाजी के दरबार मे देखने को मिली ,
मेले में बड़ी संख्या में लोगो ने मेले में बड़े बड़े झूलो , चाट पकौड़ी , खिलौनों की सहित विभिन्न दुकानों पर मेले का भरपूर लुप्त उठाया ,

वही गाँव के किसानो ने लोकदेवता तेजाजी से घर मे मौजूद पशुधन के संवर्धन के साथ सुख-समृद्धि की कामना भी की। इसके चलते थानक पर मौजूद एक भक्त के शरीर में तेजाजी ने प्रवेश कर हजारो भक्तों को दर्शन भी दिए। साथ ही धार्मिक मान्यतानुसार ध्वजा भी चढ़ाया गया। इस दिन थानको पर वर्ष में सर्पदंश से पीड़ितो की ड़सी काटी गई। गांवो मे मंगलवार रात्रि से ही भजन-किर्तन का दौर शुरू हो गया था। अलगोजा वादको ने तेजाजी के भजनो पर लोगो को भाव-विभोर कर दिया। वहीं घरो मे लड्डू-बाटी बनाकर तेजाजी को भोग लगाया गया।