रावतभाटा – शिव सिंह चौहान (पत्रकार) अतिरिक्त कलेक्टर (प्रशासन) दीपेन्द्र सिंह राठौड़ की अध्यक्षता में शनिवार को जिला मुख्यालय पर स्थित आईटी केन्द्र में वीडियों कान्फ्रेन्सिंग आयोजित की गई।
अतिरिक्त कलेक्टर ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से सभी रिटर्निंग अधिकारियों को मतदाता सूचियों के संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम के तहत आवश्यक दिशा निर्देश देते हुए इस कार्य को समय पर सम्पादित करें। उन्होंने जिले में दिव्यांगजनों का मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिए सभी रिटर्निंग अधिकारियों को दिव्यांग वोटरों का सत्यापन कर सूचियां भिजवाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि जिन दिव्यांगों के नाम मतदाता सूची में छुट गए है उनका नाम भी मतदाता सूची में जुड़वाए।
अतिरिक्त जिला कलेक्टर ने विधानसभा आम चुनाव-2018 के लिए गठित चुनाव संचालन, कानून व्यवस्था, ‘‘स्वीप‘‘ प्रचार-प्रसार, कम्प्यूटर एवं मतदान दल व मतगणना दल गठन, एरिया मजिस्ट्रेट, माइक्रो पर्यवेक्षक, डाक मतपत्र, नियंत्रण कक्ष, सुगम्य मतदान सहित विभिन्न प्रकोष्ठ के अधिकारियों से चर्चा करते हुए अब की गई प्रगति के बारे में जानकारी ली तथा आवश्यक दिशा निर्देश दिए। उन्होंने क्रिटीकल एवं वनरेबल मेपिंग, कम्यूनिकेशन प्लान, सेक्टर ऑफिसर के बारे में वी.सी. के माध्यम से चर्चा करते हुए सूचना समय पर भिजवाने के निर्देश दिए।
स्वीप के प्रभारी अधिकारी व जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अंकित कुमार सिंह ने वी.सी. के माध्यम से समस्त रिटर्निंग अधिकारियों को जिले में चल रही स्वीप की गतिविधियों के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि वे भी अपने-अपने क्षेत्र में स्वीप की गतिविधियां आरम्भ करे ताकि अधिक से अधिक लोगों को जागरुक कर मतदान के लिए प्रेरित करें। उन्होंने मॉडल बूथों का भौतिक सत्यापन करने के भी निर्देश दिए।

वीडियों कॉन्फ्रेंस में मुख्यमंत्री जलस्वावलम्बन अभियान के चौथे फेज के तहत कार्यों के सर्वे, मुख्यमंत्री जलस्वावलम्बन अभियान के तृतीय फेज के अपूर्ण कार्याें को पूर्ण कराने तथा पूर्ण कार्यों की सी.सी. भिजवान के संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए। सूचना प्रौद्योगिकी विभाग के उप निदेशक राजेन्द्र सिंघल ने भामाशाह डिजिटल परिवार योजना के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि इसके तहत ग्राम पंचायत स्तर पर शिविर आयोजित किए जा रहे है। उन्होंने बताया कि अबतक शिविरों के माध्यम से लगभग 12 हजार मोबाइल दिए जा चुके है। उन्होंने बताया कि शहरी क्षेत्र में भी शिविरों का आयोजन किया जाएगा।
अतिरिक्त जिला कलेक्टर ने जन संवाद कार्यक्रम के दौरान की घोषणाओं के कार्याें का प्रारम्भ करने, कृषि आदान अनुदान के तहत आपदा प्रबंधन, सहायता एवं नागरिक सुरक्षा विभाग, शासन सचिव द्वारा दिए गए निर्देशों की पालना सुनिश्चित करने, सम्पर्क पोर्टल पर लम्बित प्रकरणों को समय रहते निस्तारित करने के संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए। इस दौरान अतिरिक्त कलेक्टर भू.अ. चन्द्रभान सिंह भाटी, उप वन संरक्षक एस.पी.सिंह, उप वन संरक्षक वन्यजीव, जिला रसद अधिकारी ज्ञानमल खटीक, यू.आई.टी. सचिव सी.डी. चारण सहित विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद थे।