रावतभाटा – शिव सिंह चौहान (पत्रकार) एनपीसीआईएल, राजस्थान परमाणु बिजलीघर द्वारा सीएसआर के अंतर्गत 58 लाख रूपए की लागत से नवनिर्मित राजकीय प्राथमिक विद्यालय, बक्षपुरा के भवन को शुक्रवार को आयोजित समारोह में शिक्षा विभाग को सुपुर्द किया गया। विजय भवन में आयोजित कार्यक्रम में राजस्थान परमाणु बिजलीघर के स्थल निदेशक विजय कुमार जैन ने सुपुर्दगीकरण के दस्तावेज शिक्षा विभाग के अधिकारियों को हस्तांतरित किए।
इस अवसर पर राजस्थान परमाणु बिजलीघर के स्थल निदेशक विजय कुमार जैन ने बताया कि राजस्थान परमाणु बिजलीघर आस-पास के क्षेत्र के संपूर्ण विकास के लिए सदैव तत्पर रहता है। इसी कड़ी में इस विद्यालय भवन का निर्माण करवाकर शिक्षा विभाग को सौंपा जा रहा है, ताकि विद्यार्थी अच्छा भविष्य बना सके। शीघ्र ही राजस्थान परमाणु विद्युत परियोजना की निर्माणाधीन इकाई 7 व 8 से उत्पादन प्रारंभ हो जायेगा, जिससे एनपीसीआईएल का लाभ बढ़ेगा और आसपास के क्षेत्र में अधिक विकास कार्य हो सकेंगे। उन्होंने कहा कि हमारी साईट के लोग भी आमजन से जुड़कर उनका उत्थान करने के प्रयास करते रहते है। उन्होंने कहा कि आगे भी बिजलीघर ऐसे ही जनोपयोगी कार्य करता रहेगा।

पूर्व में इस विद्यालय का भवन अत्यंत जर्जर अवस्था में था और बारिश के मौसम में विद्यार्थियों को बहुत परेशानी का सामना करना पड़ता था। अब नया भवन बन जाने से विद्यार्थियों को इन परेशानियों से निजात मिल गई है। राजस्थान परमाणु बिजलीघर द्वारा इस विद्यालय में सर्वसुविधायुक्त 2 कक्षा-कक्ष, 1 प्रधानाध्यापक कक्ष और 1 पोषाहार कक्ष का निर्माण करवाया गया है। इसके साथ ही पुराने जर्जर भवन की भी पूर्ण मरम्मत करवाई गई है। इस कार्य पर लगभग 58 लाख की लागत आई है।

जिला कलेक्टर ने उपलब्ध करवाई थी खेल मैदान की जगह: पूर्व में निरीक्षण के लिए इस विद्यालय में पहुंचे जिला कलेक्टर इंद्रजीत सिंह को ग्रामवासियों ने इस विद्यालय से लगती हुई भूमि के बारे में अवगत करवाया था। जिस पर जिला कलेक्टर इंद्रजीत सिंह ने इस विद्यालय को खेल मैदान के लिए इस जगह का आवंटन किया था और उस जगह पर एन.पी.सी.आई.एल. से चारदीवारी का निर्माण के लिए आग्रह किया था। अब इस जगह पर एनपीसीआईएल द्वारा चारदीवारी का निर्माण करवाया गया है।
ब्लॉक शिक्षा अधिकारी देवकीनंदन गौड़ ने इस भवन निर्माण के लिए कार्यक्रम में उपस्थित अधिकारियों का आभार व्यक्त करते हुए राजस्थान परमाणु बिजलीघर द्वारा किए जा रहे कार्यो की प्रशंसा की। झरझनी विद्यालय की प्रधानाचार्या श्रीमती राजबीरी देवी ने कहा कि यह भील बाहुल्य क्षेत्र है जिसमें एन.पी.सी.आई.एल. द्वारा करवाए जा रहे विकास कार्य अत्यंत सराहनीय है। राजकीय प्राथमिक विद्यालय बक्षपुरा की प्रधानाध्यापिका श्रीमती संगीता सिंह ने बताया कि नया भवन बन जाने से विद्यार्थियों को बहुत सुविधा मिलेगी। जिससे विद्यालय का नामांकन भी बढेगा। जंहा पहले बच्चों को घर से बुलाकर लाना पड़ता था अब बच्चें समय से पहले ही विद्यालय पहुंच जाते है। पूर्व में भी परमाणु बिजलीघर ने इस विद्यालय में शौचालय का निर्माण करवाया था और बच्चों के खेलने के लिए झूले लगवाए थे। इन कार्यो के लिए उन्होंने विद्यालय और ग्रामवासियों की तरफ से राजस्थान परमाणु बिजलीघर प्रबंधन का आभार जताया। कार्यक्रम में राजस्थान परमाणु विद्युत परियोजना की निर्माणाधीन इकाई 7 व 8 के परियोजना निदेशक विवेक जैन, राजस्थान परमाणु बिजलीघर की इकाई 3 व 4 के केंद्र निदेशक राजीव मनोहर गोड़बोले, सीएसआर सेल चैयरमेन पी.एन. प्रसाद, के.जी. पंवार, संतोष कुमार व हीरालाल सहित कई अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।