जयपुर – प्रदेश के रेडियोग्राफरो ने वेतन विसंगति को लेकर रेडियोग्राफर सोसाइटी के आह्वाहन पर एवम अखिल राजस्थान लेबोरेट्री संघ को समर्थन देते हुए सांकेतिक रूप से काली पट्टी बांध कर राजस्थान के अलग अलग हॉस्पिटल में कार्य किया । रेडीयोग्राफर सोसायटी के प्रदेश अध्यक्ष वकी अहमद एवम महासचिव अनिल कुमावत ने बताया कि सोसायटी पिछले कई महीनों से शांतिपूर्वक तरीको से वेतन विसंगति को लेकर लगातार प्रयासरत है । एवम सामन्त कमेटी के समक्ष एवम मंत्रिमंडलीय उपसमिति के समक्ष कई बार सोसायटी अपना मांगपत्र भी प्रस्तुत कर चुकी है । मगर अभी तक पेरामेडिकल केडर की ग्रेड पे से सम्बंधित मांग पूरी नही की गई है। गौरतलब है कि अन्य राज्यो में लेब टेक्नीशियन एवम रेडियोग्राफर की शुरुआती ग्रेड पे 4200 से लेकर 4600 तक है । परंतु राजस्थान में राज्य सरकार ट्रेनिग तो रेडियोग्राफर की कराती है परंतु पहली पोस्टिंग सहायक रेडियोग्राफर ग्रेड पे 2800 पर देती है है जिसके लिए रेडियोग्राफर सोसायटी पिछले कई दिनों से संघर्ष कर रही है । अहमद ने बताया कि अखिल राजस्थान लेब टेक्नीशियन संघ के समर्थन में शुक्रवार और शनिवार दो दिन सांकेतिक रूप से राजस्थान के अलग अलग हॉस्पिटल में काली पट्टी बांध कर शांतिपूर्वक तरीको से कार्य करेंगे उसके बाद भी सामन्त कमेटी की रिपोर्ट पेरामेडिकल हित मे सार्वजनिक नही की गई तो आंदोलन को और तेज़ किया जाएगा।

इनका कहना है-

हम पिछले कई महीनों से शान्तिपूर्वक तरीको से अपनी मांग सरकार से कर रहे है सामन्त कमेटी के समक्ष एवम मंत्रिमंडलीय उपसमिति में चिकित्सा एवम स्वास्थ मंत्री की अध्यक्षता में कई बार अपना मांग पत्र सरकार के समक्ष रख चुके है मगर राज्य सरकार ने सिवाए सामन्त कमेटी के कार्यकाल को आगे बढ़ाने के कुछ नही किया अब चुनाव नजदीक है राज्य सरकार को चाहिए की आचार संहिता लगने से पहले पहले अन्य राज्यो की तर्ज पर राजस्थान में भी ग्रेड पे बढाये जिससे कि यहां की प्रतिभाओ का अन्य राज्यो में हो रहे पलायन को रोका जा सके।

वकी अहमद
प्रदेश अध्यक्ष
सोसायटी ऑफ राजस्थान रेडीयोग्राफर एंड रेडिएशन टेक्नॉलॉजिस्ट