छबड़ा:- राजस्थान विद्युत संयुक्त कर्मचारी एकता मंच की लंबित चली आ रही विभिन्न मांगो को लेकर कनिष्ठ अभियंताओ ने मुख्य अभियंता को मुख्यमंत्री एवं ऊर्जा मंत्री को ज्ञापन सौपकर थर्मल प्लांट के मुख्य द्वार पर विरोध प्रदर्शन किया। तथा 17 सितंबर से सामुहिक अवकाश पर रहकर जयपुर मे होने जा रहे अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन शामिल होगे।

राजस्थान विधुत संयुक्त कर्मचारी एकता मंच के थर्मल संयोजक कुलदीप चोधरी, रामकरण मिरोठा एवं दीपक माथुर ने बताया कि प्रदेश की सरकार ने वर्ष 2013 मे शुरू की सुराज संकल्प यात्रा एवं चुनावी घोषणा पत्र में कनिष्ठ अभियन्ता एवं तकनीकी कर्मचारियो को 4800, एवं 2400 ग्रेड पे देने का वायदा किया था। किंतु राज्य सरकार आजतक इन वायदो पर खरी नही उतरी हैं अभी भी प्रदेश के पाँचो विद्युत निगमो के कनिष्ठ अभियंताओं एवं कर्मचारियो के विभिन्न संगठन अपनी न्यायोचित मांगो व वेतन-विसंगतियो के निराकरण के लिए लंबे समय से संर्घषरत हैं परंतु निगम प्रशासन एवं राज्य सरकार द्वारा अभी तक किसी भी प्रकार से सकारात्मक कार्रवाई नही की गई। एकता मंच के आव्हान पर पूर्व में 17 सितंबर को जयपुर में होने जा रहे अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन मे भाग लेने का करने का निर्णय लिया है। इसमे छबड़ा थर्मल प्लांट के सभी कनिष्ठ अभियंता एवं तकनीकी कर्मचारी जयपुर रवाना जायेगें। इस कारण सभी कर्मचारी एवं अधिकारीगण 17 सितंबर से सामुहिक अवकाश पर रहेंगे। लंबित चली आ रही विभिन्न मांगो को लेकर छबडा सुपर क्रिटिकल के समस्त कनिष्ठ अभियंताओ ने मुख्य अभियंता को मुख्यमंत्री एवं ऊर्जा मंत्री को ज्ञापन सौपकर थर्मल प्लांट के मुख्य द्वार पर विरोध प्रदर्शन किया।