रावतभाटा – शिव सिंह चौहान (पत्रकार) विदेश भेजने के नाम पर लाखों रुपए हड़पने का मामला प्रकाश में आया है। रावतभाटा पुलिस ने पीड़ित व्यक्तियों की शिकायत पर आरोपित व्यक्ति के खिलाफ धोखाधड़ी के आरोप में मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी।
रावतभाटा थानाधिकारी दलपत सिंह राठौड़ ने जानकारी देते हुए बताया कि प्रार्थी महेंद्र सिंह भाटी, मुकेश पिपलोदिया, लक्ष्मण सोनी, किशोर सालवी, दिनेश कुमार (मन्दसौर), भगवान सिंह, भगवानराम (अजमेर), रागविन्दर सिंह राठौड़, नारायण सिंह राठौड, दर्शन सिंह, सतनाम सिंह गिल, शशिकांत शार्दुल, मुकेश बारेशा, शंकरलाल, अर्जुन अहिरे, दिनेश कुमार, प्रकाश, राकेश कुमार, प्रभुलाल, लखनदत्त शमा, अजय सिंह, दुर्गेश, चन्द्राराम, संतोष शार्दुल व प्रमोद को सुंशात मंडल नाम के व्यक्ति ने मलेशिया भेजने का झांसा देकर लाखों रूपए हड़प लिए।
राठौड़ ने बताया कि चारभुजा झालरबावड़ी में शमसेर सिंह पुत्र अजय सिंह के घर में सुशांत मंडल नाम का व्यक्ति 20 दिन रहा। सुशांत मंडल को अपना रिश्तेदार बताकर शमसेर सिंह पुत्र अजय सिंह ने कोई धोखाधड़ी नहीं करने की जवाबदारी ली। सुशांत मंडल ने मलेशिया में कार्य करने के लिए भेजने का झांसा देकर प्रार्थी महेंद्र सिंह भाटी, मुकेश पिपलोदिया, लक्ष्मण सोनी, किशोर सालवी, दिनेश कुमार (मन्दसौर), भगवान सिंह, भगवानराम (अजमेर), रागविन्दर सिंह राठौड़, नारायण सिंह राठौड, दर्शन सिंह, सतनाम सिंह गिल, शशिकांत शार्दुल, मुकेश बारेशा, शंकरलाल, अर्जुन अहिरे, दिनेश कुमार, प्रकाश, राकेश कुमार, प्रभुलाल, लखनदत्त शमा, अजय सिंह, दुर्गेश, चन्द्राराम, संतोष शार्दुल व प्रमोद से रूपए लेकर शमसेर सिंह पुत्र अजय सिंह निवासी चारभुजा के माध्यम से विजय चौधरी, मुख्य आरोपी सुशांत मण्डल, अमित बैरागी व नित्यानन्द जैन के बैंक खातों में राशि डलवाई गई। सुशांत मण्डल ने प्रत्येक व्यक्ति से वीजा भेजने पर 30 हजार रूपए व टिकट भेजने पर 40 हजार रूपए कुल 70 हजार रूपए प्रत्येक व्यक्ति से लेकर कहा कि 4 सितंबर 2018 को दिल्ली एयरपोर्ट पर आ जाना, जंहा एयरपोर्ट पर सुशांत मंडल ने मिलने के लिए कहा। तथा उक्त प्रार्थीयों को साथ में मलेशिया लेकर चलने के लिए कहते हुए कुछ लोगो के पासपोर्ट भी रख लिये। सुशांत मंडल के कहे अनुसार उक्त व्यक्ति दिल्ली एयरपोर्ट पर पहुॅचे, जंहा सुशांत मंडल नहीं मिला और उसका मोबाईल नं. भी बंद आ रहा हैै। सुशांत मंडल का अन्य साथी जिसके फोन से बात करता था, उसका नाम हैप्पी बताया गया। रावतभाटा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक भवानीशंकर मीणा ने रावतभाटा पुलिस को आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर गिरफ्तार करने व आरोपी के बैंक खाते सीज करने के निर्देश दिए। जिस पर रावतभाटा पुलिस ने धारा 420 में मामला दर्ज कर कार्यवाही शुरू कर दी है। साथ ही पुलिस ने आरोपी की तलाश शुरू कर दी है।