रावतभाटा – शिव सिंह चौहान (पत्रकार) पेट्रोल, डीजल व गैस की बढ़ती कीमतों सहित बेरोजगारी के विरोध में कांग्रेस के सोमवार को भारत बंद के आह्वान का रावतभाटा नगर सहित ग्रामीण अंचल में मिलाजुला असर देखने को मिला। कई स्थानों पर बंद पूर्णतया सफल नजर आ रहा है तो कुछ स्थान पर बाजार सामान्य दिनों की तरह खुले है। कांग्रेसजनों के अतिरिक्त इंटक के कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों द्वारा नगर में घूमकर लोगों से इस बंद में सहयोग देने की अपील करते नजर आए।
रावतभाटा को बंद को सफल बनाने के लिए कांग्रेस व इंटक के कार्यकर्ता कई दिन से तैयारी में जुटे थे। सोमवार प्रातः से ही बंद को सफल बनाने के लिए कांग्रेसजन व इंटक के कार्यकर्ता सुबह से ही अलग-अलग टोलियां बना नगर में घूमते दिखे। इंटक के कार्यकर्ता व कांग्रेसजन लोगों से अपने प्रतिष्ठान बंद रखने की अपील करते नजर आए। रावतभाटा नगर के कई क्षेत्रों में बंद का असर देखने को मिला, जबकि कुछ स्थान पर बाजार खुले नजर आए। बंद का सबसे अधिक असर सड़क किनारे लगी 522 गुमटीयों पर नजर आया।

कांग्रेस एवं विपक्षी दलों के आव्हान पर रावतभाटा में वरिष्ठ एवं पूर्व पदाधिकारियों, इंटक कार्यकर्ताओं ने भारत बंद को सफल बनाने के लिए इंटक के वरिष्ठ उपाध्यक्ष शशिकांत दशौरा के नेतृत्व में कांग्रेस के पूर्व महामंत्री बृजेश ओझा द्वारा जमकर नारेबाजी करते हुए टीमें गठित कर बाजार बंद कराए। बाद में सभी कार्यकर्ताओं ने पूर्व चेयरमेन ऋषिलाल छाबड़ा की अगुवाई में कोटा रोड़ स्थित पेट्रोल पम्प पर पहुंचे और पेट्रोल पम्प बंद कराकर धरना दिया गया। साथ ही चारभुजा झालरबावड़ी स्थित पेट्रोल पंप बंद कराकर धरना-प्रदर्शन कर बीजेपी सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर विरोध जताया गया। तथा पेट्रोल, डीजल के दाम कम करने की मांग की। साथ ही कार्यकर्ताओं ने मंहगाई के लिए भाजपा सरकार को दोषी ठहराया। तथा भजन-कीर्तन किया।

बंद कराने की कार्यवाही में सभी कार्यकर्ता हाट चौक, पुराना बाजार, नया बाजार, जीवाजी मार्केट, चेतक मार्केट, सिनेमा चौराहा पहुंचे, जंहा इंटक नेता शशिकान्त दशौरा के नेत्त्व में केन्द्र सरकार की जनविरोधी नीतियों, पेट्रोल-डीजल के दामों में बेतहशा बढ़ोतरी, मंहगाई, बेरोज़गारी, राफेल घोटाले और नफरत की राजनीति के विरोध में भाषण देकर नारेबाजी की। इसके बाद एनपीसीआईएल कॉलोनी गेट नं. 1 से होते हुए एनटीसी बाजार, प्रताप नगर एवं चारभुजा क्षेत्र में खुली दुकानों को हाथ जोड़कर बंद को सफल बनाने के लिए सहयोग करने का आग्रह किया जिस पर व्यापारियों ने अपने प्रतिष्ठान सहर्ष बन्द कर दिये।
तत्पश्चात, सभी कार्यकर्ता दीपपुरा रोड स्थित एस्सार पेट्रोल पंप पर पहुंचकर नारेबाजी कर पेट्रोल पंप आग्रहपूर्वक बंद करा दिया। वहीं उपस्थित काग्रेजजनों एवं नेताओं ने धरना देकर भजन-कीर्तन किया। इस मौके पर इंटक के वरिष्ठ उपाध्यक्ष शशिकांत दशौरा, पूर्व चेयरमेन ऋषिलाल छाबड़ा, पूर्व ग्रामीण अध्यक्ष शब्बीर भाई, पूर्व ग्रामीण महामंत्री मदन अहीर, पूर्व नगर महामंत्री बृजेष ओझा, अकील मोहम्मद, मोहम्मद हुसैन बंगाली पूर्व पार्षद, सोहनलाल, बद्रीलाल, डीआर श्रमिक संघ महामंत्री दीपचंद डांगी, हनीफ भाई, पूर्व संगठक सेवादल मनोहर जांगिड, सुरेश सोनी, ज्ञानु चौधरी, परमजीत सिंह, अमित मलिक, सुभाशचंद नंदवाना, निरंजन सहित कई कार्यकर्ता मौजूद थे। वहीं वरिष्ठ कांग्रेसी एडवोकेट आजाद हुसैन, जे.पी. ओझा, चुन्नीलाल वैष्णव, सत्यनारायण देराश्री, पूर्व विधायक एच.एन. शर्मा, मनोहर भट्ट, प्रहलाद गुर्जर सहित कई कांग्रेसी कार्यकर्ताओं द्वारा नैतिक समर्थन देते हुए बंद के प्रयासों की सराहना की। इससे पूर्व बंद की तैयारियों को लेकर एक दिन पहले इंटक नेता शशिकान्त दशौरा के नेतृत्व में बैठक आयोजित कर बंद की तैयारियों पर चर्चा की गई। वहीं अलग-अलग टीमें गठित कर काम बांटकर बंद को सफल बनाने की अपील की गई।
कांग्रेस के इस बंद को कई एसोसिएशनों द्वारा भी अपना समर्थन प्रदान किया गया। हालांकि आवश्यक सेवाओं को बंद से मुक्त रखा गया है। रावतभाटा में बंद का मिलाजुला असर नजर आ रहा है। बंद को लेकर रावतभाटा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक भवानीशंकर मीणा, रावतभाटा पुलिस उपाधीक्षक दिनेश कुमार यादव, थानाधिकारी दलपत सिंह राठौड़ मय पुलिस जाब्ता के साथ नगर में भ्रमण कर कानून व्यवस्था बनाए रखी।

दूसरी ओर भाजपा सरकार की जनविरोधी व दमनकारी नीतियों पेट्रोल, डीजल व गैस की बढ़ती कीमतों सहित बेरोजगारी व रफाल डील के घोटाले के विरोध में कांग्रेस कार्यकताओं द्वारा रावतभाटा नगर के पेट्रोल पम्प के बाहर धरना दिया गया। इस मौके पर पूर्व संसदीय सचिव राजेंद्र सिंह विधूड़ी, कांग्रेस जिला उपाध्यक्ष बाबू खां, प्रदेश सचिव जितेंद्र टांक, इंटक महासचिव नरोत्तम जोशी, प्रतिपक्ष के नेता पार्षद धर्मेंद्र तिल्लानी, ब्लॉक महासचिव मुन्ना तिवारी, प्रकाश देवड़ा, जिला सहसंयोजक मन्नू खान, ज्योति पारेता, पूर्व प्रधान ओमप्रकाश गुप्ता, प्रवक्ता डॉ. रमेश नकड़ा, किसान नेता राधेश्याम बोहरा, मुनाफ, नईम, सरपंच बाबू मोहम्मद मंसूरी सहित कई कांग्रेस कार्यकर्ता व पदाधिकारी मौजुद थे। कार्यक्रम का संचालन जिला सचिव कुशाल बारेशा ने किया।