कोटा – शिक्षा के प्रचार प्रसार और साक्षरता की अलख जगाने हेतु डॉ. बंसीधर स्कूल ने जरूरतमंद बच्चों को संसाधन युक्त शिक्षा देने के लिए सोसाइटी हैज ईव इंटरनेशनल चैरिटेबल ट्रस्ट के द्वारा वीमेन वेलफेयर आर्गेनाइजेशन ऑफ वर्ल्ड, यूनी कल्चर ट्रस्ट ऑफ इंडिया, स्काउट गाइड, चाइल्डलाइन एवं नेहरु युवा केंद्र संगठन के सहयोग से प्रारंभ किये गए स्टेशनरी बैंक में एक हजार 40 किताबें दी | प्रिंसिपल मनोरमा जोशी और स्कूल लीडर अलोक सिंह ने बताया की विद्यालय व बच्चों के द्वारा ऐसी किताबे डोनेशन में दी गई है जो की हर वर्ग और क्लास के बच्चों के लिए उपयोगी रहेंगी | शिक्षा के प्रचार प्रसार और सुविधाहीन बच्चों को शिक्षा की मुख्य धारा से जोड़ने के लिए शरू की गई इस मुहीम में हमारा सहयोग एक जलते दीये में तेल के सामान है अशिक्षा का अंधकार तभी दूर हो सकता है जब विद्यार्थियों के पास शिक्षा के संसाधन उपलब्ध होंगे | प्रोजेक्ट कोर्डिनेटर सोनी नेहलानी ने विद्यार्थियों को उनके द्वारा दी गई सहायतार्थ सामग्री के लिए धन्यवाद देते हुए कहा की आपके द्वारा दी जा रही स्टेशनरी मुख्य रूप से रूरल क्षेत्र के बच्चों को दी जाएगी | समन्वयक यज्ञ दत्त हाडा ने उपस्थित विद्यार्थियों को स्टेशनरी बैंक के उद्देश्यों और अब किये गए कार्यों के बारे में विस्तृत रूप से बताया | चाइल्ड लाइन की कोटा सचिव अल्का ने विद्यार्थियों को मुसीबत में फसे बच्चों की मदद के लिए और स्वयं को किसी भी परेशानी से बचाने के लिए 1098 पर कॉल करने की जानकारी दी | हेड बॉय प्रियांशु साहनी और हेड गर्ल स्नेहा हाडा ने स्कूल एडमिनिस्ट्रेटिव ऑफिसर रिनी जोस, कोर्डिनेटर रिशु शर्मा और अमिता चौहान के साथ मिलकर के स्टेशनरी दी एवं अपने अनुभव साँझा किये | विद्यार्थियों ने बताया की हम हमारी खुशी को बता नहीं सकते हम दिल से चाहते है की जिन बच्चों के पास पढ़ने के लिए कॉपी किताबें नहीं है वे भी पढ़े लिखे और इस देश में अपना नाम करे