कोटा – आमजन को स्वच्छता का संदेश देने के साथ ही ’स्वच्छ और स्वस्थ राजस्थान’ के निर्माण के सपने को साकार करने के लिए प्रदेश के मेडिकल कालेज वाले 7 जिलों में निरामया (स्वास्थ्य विद्या वाहिनी) कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। इसमें कोटा भी शामिल है। कार्यक्रम के तहत मेडिकल कॉलेज में अध्यनरत तीसरे और चौथे सेमेस्टर के विद्यार्थी गांवों में जाकर स्वच्छता, साफ-सफाई को बढ़ावा देने के साथ ही प्रिवेन्टीव हैल्थ केयर और हैल्दी लीविंग स्टाइल के सबंध में ग्रामीणों को शिक्षित कर जागरूक करेगें। इसका पहला चरण 26 सितम्बर से शुरू होगा। इसके लिए जिला मुख्यालय के नजदीक वाले प्रत्येक ब्लॉक से 5-5 गांवों को चिन्हित करते हुए कुल 25 गांवों का चयन किया गया है। इन गांवों में जाने के लिए तीन-तीन विद्यार्थियों की टीमे गठित की जाएंगी। 6 सदस्यों (दो टीमो पर) एक सूपर वाईजर भी नियुक्त होगा जो कि मेडिकल कॉलेज के रेजिडेन्ट चिकित्सक/चिकित्सक, ग्रुप मेंटर में से होगा। कार्यक्रम के जिला नोडल अधिकारी व आरसीएचओ डॉ महेन्द्र त्रिपाठी ने बताया कि इसमें मेडिकल के प्रशिक्षित विद्यार्थियों को निर्धारित 10 थीम पर लोगों को जागरूक करना होगा। हर थीम पर अलग-गलग संदेश देने के लिए ये विद्यार्थी पांच बार 26 सितम्बर, 24 और 31 अक्टूबर फिर 14 और 28 नवम्बर बुधवार के दिन गांवों का दौरा करेगें। इसके लिए चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग व मेडिकल कॉलेज स्तर के समन्वय में आवश्यक तैयारियां शुरू कर दी गई है। गुरूवार को इस संबध में आरसीएचओ की अध्यक्षता में मीटिंग भी आयोजित की गई जिसमें मेडिकला कॉलेज कोटा के सहायक प्रोफेसर (पीएसएम) डॉ महेन्द्र खन्ना, सीनियर डेमोस्ट्रेटर (पीएसएम) डॉ मोहम्मद शादाब गौरी, फिजियोलॉलीे डॉ नितेश अग्रवाल व फार्मालोजी के डॉ गोपाल झालानी समेत एनएचएम के डीपीएम नरेद्र कुमार वर्मा व जिला आईईसी समन्वयक सरफराज खान मौजूद रहें। इससे पूर्व इन सभी का 4 सितम्बर को राज्य स्तर पर एक दिवसीय आमुखीकरण भी किया जा चुका है।

इन 10 थीमों पर किया जाएगा जागरूक –

1- Environmental Sanitation & Health

2- Personal Hygiene & Health

3- Preventaion & Control of Vector Born Diseases

4- Child Nutrition, Growth & Development

5- Child Immunization

6- Adolescent Nutrition & Physical Activity

7- Components of ANC & Importance

8- Birth Preparedeness to avoid 03 Days

9- Geriatic Care at Community level & Non Communicable Diseases like Diabetes, Cancer, Blindness & Mental Health

10- Health Seeking Behavior, Protection & Promotion of Health