रावतभाटा – शिव सिंह चौहान (पत्रकार) मतदान के लिए जनसामान्य को प्रेरित करने एवं अधिक से अधिक मतदान सुनिश्चित करने के भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशों के तहत मंगलवार को जिला कलेक्टर इन्द्रजीत सिंह एवं जिला पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार चौधरी ने विधानसभावार स्वीप मोबाईल वेनों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस मौके पर कला जत्थें के कलाकारों ने अपनी प्रस्तुती भी दी।

स्वीप के प्रभारी अधिकारी एवं जिला परिषद् के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अंकित कुमार सिंह ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि जिले की चित्तौड़गढ़, निम्बाहेड़ा, कपासन, बड़ीसादड़ी एवं बेगूं विधानसभाओं के लिए तैयार सजे-धजे रथों पर मतदाताओं को प्रेरित करने के लिए आकर्षक फ्लैक्स लगाए गए हैं, इनमें एलईडी आदि का भी इंतजाम किया गया है। जिला मुख्यालय से रवाना हुए ये मोबाईल वेन प्रत्येक ग्राम पंचायत के प्रमुख स्थानों पर पहुँचकर मतदाताओं को जागरूक करेंगे। इन वेनों के साथ मतदान मशीन, वीवीपैट की कार्यप्रणाली की प्रायोगिक जानकारी भी मतदाताओं को दी जायेगी। इस दौरान चुनाव से जुड़े अधिकारी भी उपस्थित रहेंगे।

गौरतलब है कि चुनाव आयोग के दिशा निर्देशों के चलते मतदान के लिए ज्यादा से ज्यादा लोगों को जोड़ने हेतु जिले में जोरशोर से विभिन्न गतिविधियां चल रही है। चुनाव आयोग का मानना है कि ज्यादा से ज्यादा जनसमुदाय को निर्वाचन की प्रक्रिया से जोड़ना भारतीय लोकतंत्र को संबल देकर मजबूत बनाना है।
मोबाईल वेनों को रवाना करने के मौके पर उप जिला निर्वाचन अधिकारी एवं अतिरिक्त जिला कलेक्टर दीपेन्द्र सिंह राठौड़, अतिरिक्त जिला कलेक्टर (भू.अ.) चन्द्रभान सिंह भाटी, प्रशिक्षु आई.ए.एस. सुशील कुमार, अतिरिक्त जिला पुलिस अधीक्षक विपिन शर्मा, जिला रसद अधिकारी ज्ञानमल खटीक, युआईटी सचिव सी.डी. चारण, एसडीएम चित्तौड़गढ़ सुरेश कुमार खटीक, सुगम्य मतदान प्रकोष्ठ के सहायक प्रभारी ओमप्रकाश तोषनीवाल, तहसीलदार चित्तौड़गढ़ मोहन सिंह राजावत, विकास अधिकारी चित्तौड़गढ़ धनसिंह राठौड़ सहित अनेक मीडियाकर्मी उपस्थित थे।

दिव्यांगों पर विशेष नजर

स्वीप अभियान के तहत जिले के प्रत्येक मतदाता का नाम मतदाता सूची में जोड़ने का हर संभव प्रयास किया जा रहा है। जिले में निवासरत सभी दिव्यांगजनों के नामों की सूची को निर्वाचन विभाग द्वारा जांचा जा रहा है ताकि कोई भी 18 वर्ष या अधिक का योग्य दिव्यांगजन मतदाता सूची में जुड़ने से न रह जाये। मंगलवार को पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुए जिला निर्वाचन अधिकारी एवं जिला कलेक्टर इन्द्रजीत सिंह ने बताया कि जिले में इस बार स्वीप में नवाचार के तहत यह प्रयास किया जा रहा है कि विधानसभा चुनाव में हर दिव्यांग अपना मत दे। इसके लिए उन्हें आवश्यक सुविधाएं प्रदान करने के लिए प्रशासन एवं विभिन्न संस्थाएँ मतदान के दिन तक हर संभव प्रयास करेंगी।
इतना ही नही निर्वाचन आयोग द्वारा दिव्यांगों को प्रदत्त हर सुविधा को भी उन तक पहुंचाने के लिए जिले का प्रशासन कटिबद्ध है। इसके लिए मतदान कर्मियों के प्रशिक्षण के दौरान विशेष गंभीरता बरती जायेगी। जिला कलेक्टर ने उदाहरण देते हुए बताया कि नियम 49 (एन) के तहत पीठासीन अधिकारी पंक्ति में पीछे खड़े मतदाता को मतदान के लिए आगे बुला सकता है। दिव्यांगों के हितों के लिए बने इस प्रकार के नियमों की जानकारी मतदान कर्मियों को दी जायेगी। एक सवाल के जवाब में जिला निर्वाचन अधिकारी ने युवा मतदाताओं को भी मतदान के लिए प्रेरित करने के लिए पूर्ण प्रयास करने की बात कही। उन्होंने बताया कि युवा मतदाताओं को मतदान के लिए तैयार करने हेतु विद्यालयों एवं कॉलेजांे में अनेक कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे। साथ ही सोशल मीडिया जैसे माध्यमों के सहारे भी युवा वर्ग को मतदान से जोड़ने की कोशिश की जायेगी।