रावतभाटा – शिव सिंह चौहान (पत्रकार) रावतभाटा उपखंड के मंडेसरा ग्राम पंचायत मुख्यालय पर प्रस्तावित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र (पीएचसी) भवन का निर्माण कार्य जल्द शुरू हो जाएगा। पीएचसी भवन का नक्शा तैयार हो चुका है। निर्माण के लिए टेंडर की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है और अब एनआरएचएम के द्वारा कार्यादेश जारी कर दिया गया है, जिसके अन्तर्गत 8 सितंबर से भवन का निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा। भवन का कार्य 9 माह में पूर्ण करके विभाग को सौंपना है | एनआरएचएम के तकनीकी अधिकारी ने रविवार को मंडेसरा गांव के समीप उस जगह का निरीक्षण किया जहां पीएचसी भवन का निर्माण होना है। निरीक्षण के दौरान ब्लॉक मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. जी.जे. परमार, एनआरएचएम के सहायक अभियंता इंद्रकुमार गोयल, ग्राम पंचायत मंडेसरा के सरपंच बंशीलाल भील, ठेकेदार मैसर्स प्रीतम जाना सहित वार्डपंच व ग्रामवासी मौजुद थे।
ब्लॉक मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. जी.जे. परमार व एनआरएचएम के सहायक अभियंता इंद्रकुमार गोयल ने बताया कि पीएचसी भवन के निर्माण के लिए लगभग 1 करोड़ 35 लाख रुपए खर्च होंगे। पीएचसी भवन की टेंडर प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। फर्म को वर्कआर्डर दे दिया गया है। साइट का निरीक्षण भी किया जा चुका है। कार्यादेश के बाद ठेकेदार को साइट हैंडओवर कर निर्माण कार्य शुरू 8 सितंबर से शुरू करवाया जाएगा। मंडेसरा में 5 बेड के पीएचसी में ओपीडी रूम, लेबोरेट्री रूम, प्रसव कक्ष, महिला व पुरुष वार्ड, रजिस्ट्रेशन रूम व अन्य सुविधाएं होंगी। इसके साथ ही दो चिकित्सा अधिकारियों के मकान व चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के मकान निर्माण भी स्वीकृत है।
ठेकेदार प्रीतम ने बताया कि पीएचसी भवन निर्माण का ठेका मैसर्स प्रीतम जाना कंपनी को दिया गया है। इस कंपनी के द्वारा जिले के रावतभाटा उपखंड के मंडेसरा एवं चित्तौड़गढ़ गंगरार के पास बोरदा पीएचसी के भवन बना रही है। दोनों स्थानों के पीएचसी निर्माण के लिए 2 करोड़ 85 लाख रुपए का बजट के तहत पैकेज दिया गया है।