रावतभाटा – शिव सिंह चौहान (पत्रकार) अब राज्य सरकार द्वारा सरकारी विद्यालय के बच्चों को दूध सभी छह दिन मिलेगा। यानी सोमवार से शनिवार तक बच्चों को पौष्टिकता के आधार पर फीका दूध दिया जाएगा। इससे पूर्व बच्चों को सप्ताह में तीन दिन दूध दिया जा रहा था, जिसमें सरकार ने परिवर्तन कर अब बच्चों को 6 दिन दूध पिलाने का निर्णय किया है।
दूध वितरण की इस नई योजना की क्रियान्विति 1 सितंबर से प्रारंभ हो जाएगी। इस योजना में कक्षा 1 से 5 तक के बच्चों को 150 मिलीग्राम दूध एवं कक्षा 6 से 8 तक के बच्चों को 200 मिलीग्राम दूध प्रतिदिन दिया जाएगा।
उल्लेखनीय है कि अन्नपूर्णा दुग्ध योजना 2 जुलाई 2018 को राज्य सरकार ने लागू की थी। इस योजना में सरकार ने परिवर्तन कर बच्चों को 6 दिन दूध पिलाने के आदेश दिए है। इससे बच्चों की स्वास्थ्य की समय -समय पर जांच की जाएगी। स्कूलों में उन सभी बच्चों को जो कक्षा 1 से 8 तक में पढ़ रहे है।
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बताया कि 1 सितंबर से अब क्षेत्र के सरकारी विद्यालयों में 3 दिन के बजाय 6 दिन दूध पिलाने के आदेश प्राप्त हुए है। बच्चों को दूध की कमी नहीं रहे इसका पूरा ध्यान रखा जाएगा।
पहले सिर्फ सप्ताह में तीन दिन ही स्कूलों में दूध पिलाने की व्यवस्था की गई थी। बाद में विभागीय अधिकारियों ने विचार विमर्श के बाद यह योजना सभी 6 दिन स्कूलों में लागू करने के आदेश जारी किए। इस आदेश के लागू होने के बाद स्कूली बच्चों को सभी 6 दिन दूध मिल सकेगा। प्राइमरी स्तर पर प्रत्येक बच्चे को 150 मिलीलीटर व उच्च प्राथमिक स्तर के बच्चे को 200 मिलीलीटर प्रतिदिन दूध दिया जाएगा, ऐसे स्कूलों में प्रतिदिन 2 हजार लीटर दूध की खपत।