निपानियां कटारमल मंदिर सेवा समिति के तत्वाधान में स्वर्गीय अयोध्या देवी विजयवर्गीय की प्रेरणा से चतुर्थ कावड़ यात्रा निकाली गई। इस कावड़ यात्रा में श्रद्धालुओं का जनसैलाब उमड़ा पड़ा जिसमें शिवभक्तो ने भगवा रंग के वस्त्र धारण कर शहर को शिवमय बना दिया।

श्रावण मास के तीसरे सोमवार को निपानियां कटारमल मंदिर सेवा समिति के तत्वाधान में स्वर्गीय अयोध्या देवी विजयवर्गीय की प्रेरणा से चतुर्थ कावड़ यात्रा निकाली गई जिसमें शिवभक्तों का जनसैलाब उमड़ा पड़ा। इस शोभायात्रा में भाग लेने वाले शिवभक्त अपने-अपने वाहनों से गांव गुगोर के समीप प्रवाहित हो रही पार्वती नदी में तट पर पहुंचे। वहां पूर्ण विधि-विधान से पूजा-अर्चना कर महिलाओं, पुरूषों एवं बच्चों नें अपने-अपने पात्रों में पार्वती नदी का पवित्र जल भरा एवं महाआरती के तत्पश्चात् भक्तों की पैदल-पैदल भव्य शोभायात्रा प्रारंभ हुई। जिसमें महिलाऐं, पुरूष, बच्चें हर-हर महोदव एवं हर-हर बम-बम के जयकारों के साथ डी.जे. की धुन पर भगवान शिव की भक्ति में लीन होकर नृत्य कर चलते रहे। यह शोभायात्रा गांव आंचोली, धरनावदा चौराहा, आजाद सर्किल, लोटा भैरू, अलीगंज बाजार, पुराना बाजार, छत्री चौराहा, नदी दरवाजा, रेणुका नदी पर बने पुल पर होती हुई निपानियां गांव मे पहाड़ी पर स्थित कटारमल मंदिर पर पहुंची जहां पर कावडियों द्वारा अपने-अपने पात्रों में भरकर लाए पार्वती नदी के पवित्र जल से भगवान शिव की प्रतिमा का जलाभिषेक कर मन्नते मांगी।

इस शोभायात्रा मे आस-पास के लगभग आधा दर्जन गांवो के ग्रामीणों ने भाग लिया। गांव गुगोर से शुरू हुई कावड़ यात्रा का भक्तों ने जगह-जगह स्वागत द्वार लगाकर पुष्पवर्षा के साथ आतिशबाजी कर स्वागत किया एवं कई स्थानों पर कावडियों को पीने के लिए शीतल जल एवं अल्पाहार, शरबत मुहिया करवाया गया। इस शोभायात्रा की भव्यता को मध्य नजर रखते हुए पुलिस प्रशासन द्वारा शांति बनाए रखने के लिए जगह-जगह पर पुलिस जवान तैनात किए गए। शोभायात्रा के दौरान महिलाओं की समूह में महिला पुलिस कर्मी मौजूद रहीं। इस शोभायात्रा में कावडियों द्वारा लगाए गए हर-हर महादेव के जयकारों एवं डी.जे. साउंड पर चल रहें भगवान शिव के भजनों से शहर में धार्मिक माहौल बना रहा।