रावतभाटा – शिव सिंह चौहान (पत्रकार) सावन का लगभग एक पखवाड़ा सूखा निकल जाने के बाद बुधवार को उपखंड मुख्यालय सहित आसपास के गांवों में दूसरे दिन भी इंद्र देव मेहरबान हुए। गुरूवार को भी दिनभर कभी तेज तो कभी बूंदों के रूप में मेहर बरसाई। रावतभाटा उपखंड क्षेत्र में बुधवार से शुरू हुई वर्षा का दौर गुरूवार को भी रूक-रूककर दिनभर जारी रहा। मौसम खुशनुमा होने से लोगों को गर्मी व उमस से राहत मिली। गौरतलब है कि करीब एक पखवाड़े पूर्व अच्छी बारिश हुई थी और इसके बाद बारिश का दौर खत्म हो गया। पिछले कई दिनों लोग बारिश का इंतजार कर रहे थे लेकिन बारिश नहीं हो रही थी। बारिश नहीं होने से किसान भी चिंतित दिखाई देने लगे थे|दो दिन बारिश होने के बाद गांवों में किसान प्रफुल्लित हो गए। बारिश से किसानों के चेहरे खिल उठे। पिछले काफी समय से बारिश नहीं होने से किसान बीच में चिंतित दिखाई दिए, लेकिन बुधवार को हुई बारिश से किसान प्रसन्न दिखाई दिए। पहले जहां बारिश नहीं होने से फसलें मुर्झाने लगी थी, वहीं बुधवार को हुई बारिश से खरीफ फसलों को नया जीवन मिला। किसानों को अब आगे इसी तरफ अच्छी बारिश की उम्मीद है।
जलसंसाधन सिंचाई विभाग के कनिष्ठ अभियंता प्रशांत भावसर ने जानकारी देते हुए बताया कि चंबल नदी पर बने तीन प्रमुख बांधो में लगातार पानी की आवक जारी है। रावतभाटा के राणाप्रताप सागर बांध का जलस्तर पूर्ण भराव क्षमता 1157.50 फीट के मुकाबले 1142.12 फीट है। राजस्थान के सबसे बड़ा बांध राणाप्रताप सागर बांध केचमेंट में भारी वर्षा होने के कारण केचमेंट में पानी की लगातार आवक बढ़ रही हैं। चंबल नदी पर बने 3 बांधों में पानी की खासी आवक हो रही हैं। राणाप्रताप सागर बंाध में 2 हजार 105 क्यूसेक पानी की आवक हो रही हैं। पिछले 24 घंटे में 33.80 एमएम वर्षा दर्ज की गई। 1 जून से अब तक यंहा 519.80 मिमी वर्षा दर्ज की जा चुकी है।
मध्यप्रदेश मालवा में हो रही वर्षा का पानी की आवक से गांधीसागर बांध की भराव क्षमता 1312 के मुकाबले 1276.44 हैं। गांधी सागर बांध पर 15 मिमी एंव कुल वर्षा 258.30 मिमी वर्षा हुई है। बांध में 467 क्यूसेक पानी की आवक हो रही है।
वहीं बुंदी जिले का जवाहर सागर बांध कोटा डेम का जलस्तर अपनी पूर्ण भराव क्षमता 980 फीट के मुकाबले 974 फीट हो गया है। जवाहर सागर बांध पर 22.80 मिमी एंव कुल 357.70 मिमी वर्षा रिकार्ड की गई है। तथा जवाहर सागर बांध में 851 क्युसेक पानी की आवक हो रही हैं। तथा कोटा जिले का कोटा बैराज 854 फीट क्षमता के मुकाबले 851.60 फीट पानी मौजुद है। तथा कोटा बैराज पर 10 मिमी वर्षा हुई है। अब तक यंहा 364.20 मिमी वर्षा दर्ज की जा चुकी है।