कोटा– झारखंड निवासी मनमोहन पटवा को पिछले 14 वर्षों से न्याय नही मिला है उन्होंने मुख्यमंत्री से लेकर प्रधानमंत्री तक न्याय के लिये गुहार लगा ली है लेकिन कोई नतीजा नही निकला। सब जगह से निराश होने के बाद मनमोहन ने अब कोटा की CIA यानी क्राइम इंवेस्टिगेट एजेंसी की शरण ली है

बता दे कि सीआईए देश की इकमात्र ऐसी संस्था है जो पुलिस से निराश होने वाले व्यक्ति को निजी तौर पर न्याय दिलवाती है इसका मुख्य कार्य पुलिस की ही तरह किसी भी मामले की छानबीन करके पीड़ित को न्याय दिलवाना है

झारखंड निवासी बाटा व्यवसायी अपनी तीन F.I.R. पर अनुसन्धान करवाने के लिए कोटा पहुंचे है जहा पटवा ने झारखण्ड पुलिस और प्रशासन के भ्रस्टाचार और रंगदारी में लिप्त होने का खुलासा किया । सीआईए के मृत्युंजय से अपनी तीन F.I.R. पर अनुसन्धान अधिकारी बनने की मांग की है मजिस्ट्रेट को ज्ञापन दिया जिसमे “ क्राइम इन्वेस्टीगेशन एजेंसी ” के निर्देशक और अपराध-विशेषज्ञ भूपेंद्र वर्मा (मृत्युंजय) से निष्पक्ष जांच करवाने और अपनी तीन F.I.R. पर CrPC के अनुभाग 202 के तहत अपना अनुसन्धान अधिकारी नियुक्त करने की मांग की गयी। जिससे जाँच में पारदर्शिता लायी जा सके और उचित समय में न्याय मिल सके।