रावतभाटाशिव सिंह चौहान (पत्रकार) पटवार प्रशिक्षण के समापन के अवसर पर जिला कलेक्टर इन्द्रजीत सिंह ने सोमवार को अस्थाई पटवार प्रशिक्षण केन्द्र कीरखेड़ा में प्रशिक्षु पटवारियों को संबोधित करते हुए कहा कि पटवारी राजस्व की महत्वपूर्ण कड़ी है। उन्होंने कहा कि व्यक्तित्व से पद की पहचान होती है, पद को समझना बहुत जरुरी है, यह जिम्मेदारी वाला पद है। उन्होंने कहा कि नैतिकता से कोई समझौता नहीं करें, लगातार सीखते रहें और कठिन परिश्रम से अपने जिम्मेदारी को निभाए।
उन्होंने कहा कि पटवारी को अपने-अपने क्षेत्र की पूर्ण जानकारी होनी चाहिए। नैतिकता से अपने पद का निर्वहन करते हुए लोगों में विश्वास जगाए। जिला कलेक्टर ने कहा कि पटवारी अपने पटवार मण्डल का कलेक्टर होता है। उन्होंने कहा कि जो भी निर्णय ले वह सही ले। उन्होंने प्रशिक्षु पटवारियों से कहा कि प्रशिक्षकों द्वारा जो प्रशिक्षण दिया गया है उसे ध्यान में रखते हुए अपने-अपने कार्यक्षेत्र में जिम्मेदारी से समय पर कार्य पूर्ण करें। उन्होंने प्रशिक्षु पटवारियों से प्रशिक्षण के दौरान लिए गए अनुभवों के बारे में जाना।

कार्यक्रम में प्रशिक्षु आई.ए.एस. सुशील कुमार ने भी अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि किसी पद के लिए प्रशिक्षण बहुत जरुरी होता है। उपखण्ड अधिकारी सुरेश कुमार खटीक ने प्रशिक्षु पटवारियों संबोधित करते हुए कहा कि प्रशिक्षकों द्वारा विभिन्न प्रकार का प्रशिक्षण दिया गया है वहीं प्रशिक्षु पटवारियों ने न्याय आपके द्वार शिविरों में प्रशिक्षण लिया कि किस प्रकार राजस्व वादों का निस्तारण शिविरों में किया गया। उन्होंने बताया कि किसी भी प्रकार की अनुशासनहीनता प्रशिक्षण के दौरान देखने को नहीं मिली। इस अवसर पर विभागीय अधिकारी एवं कार्मिक उपस्थित थे।