कोटा– रानीलक्ष्मीबाई शाखा द्वारा बाल विवाह मुक्त भारत कार्यक्रम के तहत लगातार शहर के चार सरकारी विद्यालयों में 16जुलाई से 31 जुलाई के अन्तर्गत उच्च माध्यमिक विद्यालय (घोड़े वाला बाबा) बालिका माध्यमिक विद्यालय कोटड़ी गोबरिया बावड़ी चौराहा(स्ट्रीट कैंप) सकतपुरा कुन्हाड़ी (स्ट्रीट कैंप) सेमिनार का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की मुख्य वक्ता जिला विधिक सेवा प्राधिकरण से परिवार कल्याण समिति सदस्य सीमा जीघोष जो शाखा परिवार के वरिष्ठ उपाध्यक्ष भी है ।उन्होंने विद्यालय में पढ़ने वाले छात्रों को उनके शैक्षिक अधिकार तथा, बाल विवाह सम्बंधित कानून तथा दंड विधान बताया।बाल विवाह होने से न समाज और ना ही देश आगे बड़ पाता है, यह एक कुरीतियों को और बढ़ावा देना है जिसकी वजह से वह बालको व बालिकाओं के विकास का अवरोधक है ।उन्होंने कहा समाज,परिवार या कही भी बाल विवाह हो रहा हो तो वो तुरंत सूचित करें।बच्चों को चाइल्ड हेल्पलाइन नंबर 1098, पुलिस कंट्रोल रूम 100 न. के बारे में बताया और बताया की हमे अपराध होने का इंतजार नहीं करना है बल्कि अपराध को होने से पूर्व ही रोकना है।शाखा की अधयक्षा सारिका मित्तल ने बताया की राजस्थान में बाल विवाह की अधिकता है इसलिये हमारी शाखा ने निर्णय लिया कि जगह जगह जागरूकता अभियान चलायेगें ।कार्यक्रम का संचालन सपना जी ने किया। कार्यक्रम के अन्त में शाखा की सचिव सुनिता गोयल के द्वारा शपथ दिलाई गई कि वह बाल विवाह का विरोध करेगें व समाज को भी जागरूक करने में अपने स्तर पर क़दम उठायेगें।