रावतभाटा – शिव सिंह चौहान (पत्रकार) नाभिकीय प्रशिक्षण केंद्र के प्रशिक्षण अधीक्षक एवं राजस्थान परमाणु बिजलीघर के प्रवक्ता सुनील कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि भारतीय परमाणु ऊर्जा कार्यक्रम की उत्कृष्टता, विश्वसनीयता एवं दृढ़ता साबित करते हुये 29 जुलाई 2018 को रावतभाटा साइट पर राजस्थान परमाणु बिजलीघर (आरएपीएस) की इकाई-3 ने अपनी पूर्ण अधिकृत क्षमता पर लगातार 700 दिनों के प्रचालन का रिकॉर्ड दर्ज किया। रावतभाटा साइट पर राजस्थान परमाणु बिजलीघर की इकाई 3 के 28 अगस्त 2016 से द्विवार्षिक शटडाउन गतिविधियों को पूरा करने के बाद सतत प्रचालित है और इस दौरान 3222.03 मिलियन यूनिट के लक्ष्य के समक्ष 3601.566 मिलियन यूनिट बिजली उत्पन्न कर चुकी है। इस उपलब्धि के साथ, सतत विद्युत उत्पादन के मामले में आरएपीएस-3 अब विश्व के भारी पानी दाबित रिएक्टरों (पीएचडब्ल्यूआर) में चौथे और सभी प्रकार के परमाणु रिएक्टरों में पांचवें स्थान पर है।
भारतीय परमाणु ऊर्जा संयंत्रों के इतिहास में आरएपीएस-3 अब सतत प्रचालन के रिकॉर्ड में तीसरे स्थान पर है। कैगा जनरेटिंग स्टेशन की इकाई-1 पिछले 809 दिनों से सतत प्रचालन कर रही है और इससे पहले राजस्थान परमाणु बिजलीघर की इकाई-5 ने वर्ष 2014 में लगातार 765 दिनों का सतत प्रचालन पूर्ण किया था। 29 जुलाई 2018 को रावतभाटा साइट पर राजस्थान परमाणु बिजलीघर (आरएपीएस) की इकाई-3 द्वारा अपनी पूर्ण अधिकृत क्षमता पर लगातार 700 दिनों के प्रचालन का रिकॉर्ड दर्ज कराने पर राजस्थान परमाणु बिजलीघर के अधिकारियों व कर्मचारियों ने एक-दूसरे को बधाई देते हुए खुशी का इजहार किया।