रावतभाटा – शिव सिंह चौहान (पत्रकार) रावतभाटा से बुधवार को किसानों का प्रतिनिधिमंडल द्वारा धारा 20 सहित अन्य मांगो को लेकर प्रदेश की मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा राजे सिंधिया से मिलकर आवश्यक मुद्दो पर चर्चा की। जिस पर मुख्यमंत्री राजे ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि यह प्रकरण किसानो के हित का है। इस पर कार्यवाही क्यो नही हुई, और नाराजगी व्यक्त की।
भाजपा किसान नेता कमलेंद्र सिंह हाड़ा ने मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा राजे सिंधिया को बताया कि रावतभाटा के किसानो की महत्वपूर्ण समस्या धारा 20 है, इसमे 52 गांव के किसानो को मुलाधिकारो से वंचित कर रखा है, जब अभ्यारण का नोटिफिकेशन हुआ था, तब किसान व ग्रामीण के मुल अधिकार वन विभाग द्वारा सुरक्षित किये गये थे, पर आज उन पर एनजीटी ने लोन, रजिस्ट्री सहित अन्य जन सुविधाओ पर रोक लगा दी गई। जिसे लेकर किसान रामस्वरूप गौड़ ने उच्च न्यायालय में अपील की। जिस पर किसानो के अधिकार बहाल करने के जिला कलेक्टर चितौड़गढ़ को पालना के आदेश दिये, वह आज तक नही हो पाये। मुख्यमंत्री ने इस पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि किसान की समस्या सर्व प्रथम हल करे जो भी त्रुटि हो समाधान करवाये। किसान रामस्वरूप गौड़ को तुरंत ही मुख्यमंत्री कार्यालय से सम्बंधित मामले की पत्रावली माँगी। इस अवसर पर भाजपा किसान नेता कमलेंद्र सिंह हाड़ा, भैसरोड़गढ़ पूर्व मंडल महामंत्री रामस्वरुप गौड, ओम टेलर, लोकेन्द्र सिंह राजावत सहित अन्य कार्यकर्ता ने पुष्पहार भेट किया।