रावतभाटाशिव सिंह चौहान (पत्रकार) नव नियुक्त जिला पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार चौधरी के सोमवार को कार्यभार ग्रहण करने के दौरान निवर्तमान जिला पुलिस अधीक्षक एवं पुलिस महानिरीक्षक के पद पर पदौन्नत हुए प्रसन्न कुमार खमेसरा के बीच कुर्सी को लेकर पहले आप-पहले आप को लेकर कुर्सी के सम्मान की स्थिति काफी देर तक चलती रही।
हुआ यूं कि राजसमंद से यहां स्थानांतरित हुए मनोज कुमार चौधरी, जो कि पूर्व में यहां अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के पद पर कार्य कर चुके हैं, उनके सोमवार को यहां पहुंचने पर अपरान्ह करीब 4 बजे तत्कालीन पुलिस अधीक्षक प्रसन्न कुमार खमेसरा द्वारा उन्हें चार्ज सौंपा जाना था। मनोज कुमार के पुलिस अधीक्षक कक्ष में पहुंचने से कुछ देर पहले खमेसरा पहुंच गए। चूंकि उन्होंने तब तक चार्ज नहीं दिया था, इस कारण पुलिस अधीक्षक की कुर्सी पर ही बैठे रहे।
इस बीच नव नियुक्त पुलिस अधीक्षक भी चैम्बर में पहुंच गए, एवं उनके साथ अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विपिन कुमार के साथ ही पुलिस उप अधीक्षक गजेन्द्र सिंह जोधा भी पहुंच गए। लगभग 4.13 बजे खमेसरा ने पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार केा चार्ज सौंपते हुए पुलिस अधीक्षक की कुर्सी पर बैठने को कहा, लेकिन पुलिस अधीक्षक ने खमेसरा को सम्मान देते हुए कहा कि वह इस कुर्सी पर बाद में बैठेंगे, एवं पास ही जिस कुर्सी पर बैठे हुए हैं, वहां पर ठीक है, लेकिन खमेसरा ने उन्हें पुलिस अधीक्षक की कुर्सी पर बैठने के लिए पुनः आग्रह किया, एवं अपने हाथों से उन्हें कुर्सी पर बिठाया।
कुर्सी पर बैठने के बावजूद पुलिस अधीक्षक अपने समीप ही मौजूद पदौन्नत हुए खमेसरा के खड़े रहने के कारण कुछ देर के लिए असहज दिखाई दिए। इस स्थिति को खमेसरा भांप गए, एवं उन्हेांने पुलिस अधीक्षक को जबरन बैठने के लिए मजबूर कर दिया, एवं उस कुर्सी की ओर रवाना हो गए, जहां पूर्व में पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार चौधरी बैठे हुए थे, लेकिन रवाना होने के बाद भी पुलिस अधीक्षक पुनः अपनी कुर्सी से उठ खडे हुए, एवं खमेसरा से पुलिस अधीक्षक की कुर्सी पर बैठने का पुनः आग्रह किया, जिस पर खमेसरा ने कहा कि वह अब जब कभी यहां डीआईजी के रूप में आएंगे, तब अवश्य इस कुर्सी पर बैठेंगे, जिसके बाद कुर्सी को लेकर पहले आप-पहले आप के सम्मान की स्थिति पर विराम लग सका|नियुक्त जिला पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार चौधरी ने कहा कि उनकी पहली प्राथमिकता अपराधों पर नियंत्रण रखना होगा | आम जनता और पुलिस के बीच बेहतर संबंध बनाने के प्रयास पर जोर देने की बात भी कही |इस मौके पर रावतभाटा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक भवानीशंकर मीणा एवं रावतभाटा पुलिस उपाधीक्षक राजाराम मीना सहित कई अधिकारी उपस्थित थे |

चित्तौड़गढ़ पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार चौधरी ईमानदार, मधुरभाषी सरल, व कर्तव्य निठावान एंव सजग व्यक्तित्व के धनी है। वे अपनी सुझबूझ एंव चुस्त प्रशासनिक कार्यो के लिए ख्याति प्राप्त है। जिला पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार गरीबों के प्रति भी एक अच्छी सोच लेकर चलने वाले अधिकारी है। मनोज कुमार चौधरी जंहा-जंहा भी रहे वंहा अपनी पहचान बनाई। जनता ने इनकों अच्छे अधिकारी के रूप में होने का मान-सम्मान भी दिया है।

राज्य द्वारा जारी की गई पुलिस उपाधीक्षक की तबादला सूची में रावतभाटा पुलिस उपाधीक्षक राजाराम मीना का स्थानांतरण बूंदी जिले के नैंनवा में हो गया है। तथा रावतभाटा पुलिस उपाधीक्षक के पद पर अजमेर से दिनेश कुमार नव पदस्थापित आ रहे है। इधर चित्तौड़गढ़ जिले में गोपाल दास रामावत भदेसर से पुलिस उपाधीक्षक एसएसटी सेल सिरोही, गजेंद्र सिंह जोधा पुलिस उपाधीक्षक चित्तौड़गढ़ को पुलिस उपाधीक्षक दक्षिण अजमेर, भंवर रणधीर सिंह एसएसटी सेल चित्तौड़गढ़ से पुलिस उपाधीक्षक भीलवाड़ा शहर एवं हिम्मत सिंह देवल पुलिस उपाधीक्षक कपासन को पुलिस उपाधीक्षक वल्लभनगर उदयपुर लगाया है। वहीं अजय सिंह को पीटीएस बीकानेर से चित्तौड़गढ़, दिनेश सिंह रोहेडिया को जायल नागौर से कपासन, नरपत सिंह को डीप्टी एसएसटी सेल भीलवाड़ा से पुलिस उपाधीक्षक गंगरार, माधोसिंह सोढ़ा पुलिस उपाधीक्षक डूंगरपुर को पुलिस उपाधीक्षक चित्तौड़गढ़ लगाया गया है।