समाचार प्रकाशित होने के बाद ईओ ने स्वयं द्वारा जारी पत्र को ही बताया झूठा

छबड़ा नगर पालिका के अधिकाशासी अधिकारी के खिलाफ कार्यवाही की मांग को लेकर पत्रकारों ने जार के जिलाध्यक्ष योगेष गुप्ता की अगुवाई में जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंपा है। साथ ही प्रतिनिधिमंडल ने ऐसे भृष्ट अधिकारियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करने की मांग की है। ताकि अन्य अधिकारी भी सबक ले सके और पत्रकारों को झूठा साबित नहीं कर सके। जिला कलक्टर डाॅ. एसपी सिंह ने जांच कर कार्यवाही के लिए प्रतिनिधिमंडल को आष्वस्त किया है। ज्ञापन में छबड़ा के पत्रकार जमनालाल यादव ने बताया कि नगर पालिका क्षेत्र में सफाई ठेके में व्याप्त अनियमितताओं को लेकर अधिशासी अधिकारी हेमेंद्र कुमार द्वारा सफाई ठेकेदार मैसर्स यूनिटेक कम्प्यूटर एंड लेबर सप्लायर्स को पत्र क्रमांक नपा छबड़ा/2018/1839 से 10 मई को कारण बताओ नोटिस जारी किया था।

जिसके आधार पर एक जून को पत्रकार यादव ने समाचार प्रकाषित करवा दिए थे। इसके बाद ईओ ने सफाई ठेकेदार से सांठगांठ कर उनके द्वारा जारी पत्र को पालिका के रिकार्ड से ही गायब करवा दिया। साथ ही पत्र प्रस्थान पंजिका में व्हाईटनर का प्रयोग कर उसी क्रमांक पर संगीतमय योग शिविर की अल्पकालीन निविदा सूचना का अन्य पत्र जारी कर दिया। इतना ही नहीं ईओ द्वारा सफाई ठेकेदार को निजी लाभ देते हुए उनके द्वारा 12 जुलाई को पत्र को क्रमांक नपाछ/2018/2555 जारी कर सफाई ठेकेदार की फर्म के पक्ष में 10 मई को पत्र क्रमांक नपा छबड़ा/2018/1839 जारी नहीं करने की बात उल्लेख की है। पत्र में ईओ हेमेंद्र कुमार के ही हस्ताक्षर हैं। ज्ञापन में यादव ने बताया कि उसे सफाई ठेकेदार द्वारा मानहानी का केस करने की धमकी भी दी गई है। प्रतिनिधिमंडल में जिला महामंत्री राजेष पंकज, जार के जिला महामंत्री लक्ष्मण वर्मा, कोशाध्यक्ष नीरज पोरवाल, आईएफडब्ल्यूजे के जिला सचिव शब्बीर हुसैन, आईएफडब्ल्यूजे के जिला वरिश्ठ उपाध्यक्ष हरीष शर्मा भंवरगढ़ आदि उपस्थित थे।