रावतभाटा – शिव सिंह चौहान (पत्रकार) राजस्थान परमाणु बिजलीघर एनपीसीआईएल द्वारा सीएसआर के अंतर्गत लगभग 2.2 करोड़ की लागत से नवनिर्मित राजकीय माध्यमिक विद्यालय, लाड़पुरा भवन का लोकार्पण सांसद सी.पी. जोशी, राजस्थान परमाणु बिजलीघर के स्थल निदेशक विजय कुमार जैन, विधायक सुरेश धाकड़ द्वारा लोकार्पण पट्टिका का अनावरण कर इसे आमजन के लिए समर्पित किया। इस मौके पर राजस्थान परमाणु विद्युत परियोजना की निर्माणाधीन इकाई 7 व 8 के परियोजना निदेशक विवेक जैन, राजस्थान परमाणु बिजलीघर के केंद्र निदेशक आर.एम. गोड़बोले एवं सी.एस.आर. सेल के चेयरमेन पी.एन. प्रसाद उपस्थित थे।
कार्यक्रम में सांसद सी.पी. जोशी ने संबोधित करते हुए कहा कि लाड़पुरा जैसे छोटे से गांव में एन.पी.सी.आई.एल. द्वारा इस विद्यालय का निर्माण एक मिसाल है। तथा यह निजी विद्यालय से भी अधिक सुविधायुक्त है। उन्होंने कहा कि संपूर्ण राजस्थान में भामाशाहों द्वारा दिए गए सहयोग का 10 प्रतिशत तो एन.पी.सी.आई.एल. के द्वारा इस छोटे से क्षेत्र के विकास में ही खर्च कर दिया है। मुझे उस दिन बहुत खुशी होगी जब इसी विद्यालय से पढ़ा हुआ विद्यार्थी एक दिन अधिकारी बनकर यंहा पहुंचेगा। पिछले तीन-चार वर्षो में एन.पी.सी.आई.एल. द्वारा सड़क निर्माण, पेयजल व्यवस्था, शौचालय निर्माण, विद्यालय भवन का निर्माण तथा महिलाओं के लिए स्वरोजगार कार्यक्रम आदि अनेक सराहनीय कार्य हुए है, और इसके लिए सांसद ने एन.पी.सी.आई.एल. के अधिकारियों और उनकी पूरी टीम को बधाई दी।
कार्यक्रम में राजस्थान परमाणु बिजलीघर के स्थल निदेशक विजय कुमार जैन ने कहा कि हमने गत वर्ष में सामाजिक सरोकार के तहत इस क्षेत्र में करीब 17 करोड़ के कार्य किए है। इन कार्यो को करने के लिए हमें किसी भी तरह के सहयोग की आवश्यकता महसुस हुई तो सांसद, विधायक, प्रधान, सरपंच एवं संपूर्ण ग्रामवासियों का भरपूर सहयोग प्राप्त हुआ है। उन्होंने कहा कि हमने शिक्षा के क्षेत्र के साथ-साथ, पानी की व्यवस्था, चिकित्सा सुविधा, सड़को के निर्माण, शौचालय निर्माण तथा कौशल विकास के कार्यो को सफलतापूर्वक पूर्ण किया है। हमारे शिक्षा के क्षेत्र में किए गए कार्यो को देखते हुए राजस्थान सरकार ने 27 जून, 2018 को भामाशाह पुरस्कार से सम्मानित किया है।
उन्होंने कहा कि राजस्थान परमाणु विद्युत परियोजना की निर्माणाधीन इकाई 7 व 8 का कार्य युद्ध स्तर पर चल रहा है, जिसमें आस-पास के क्षेत्र के लगभग 2500 कुशल-अर्द्धकुशल युवा सहयोग कर रहे है। भविष्य में राजस्थान परमाणु विद्युत परियोजना की निर्माणाधीन इकाई 7 व 8 से उत्पादन शुरू हो जाएगा। तथा सी.एस.आर. के तहत और अधिक विकास के कार्य कर पाएंगे। उन्होंने युवाओं को अनुरोध किया कि आर.ए.पी.पी. द्वारा भर्तियां शुरू हो गई है और स्थानीय युवा उसमें जरूर हिस्सा ले तथा सफल हो। हमारी भर्ती प्रकिया बहुत ही पारदर्शी होती है और मुझे खुशी होगी की हमारे स्थानीय युवाओं को इसमें रोजगार मिलें।
विधायक सुरेश धाकड़ ने संबोधित करते हुए कहा कि एनपीसीआईएल ने पिछले चार सालों में इस क्षेत्र में सी.एस.आर. के तहत सर्वाधिक विकास के कार्य किए है। उन्होंने कहा कि एन.पी.सी.आई.एल. के द्वारा किए गए सभी कार्य गुणवत्तापूर्ण होते है और यह विद्यालय भी उसका एक उदाहरण है। इसके लिए विधायक ने एन.पी.सी.आई.एल. और इनकी सी.एस.आर. की पूरी टीम को बधाई दी। उन्होने कहा कि अब हमारा काम सभी बच्चों को शिक्षा से जोड़ना है और उन्हें अच्छे नागरिक बनने की प्रेरणा देना है।
कार्यक्रम के अंत में विद्यालय की अध्यापिका श्रीमती रेणु कॉंकरीया ने सांसद, स्थल निदेशक, विधायक, प्रधान, पंचायत प्रतिनिधियों, स्थानीय पंचायत ग्रामवासियों और एन.पी.सी.आई.एल. के समस्त अधिकारियों को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए आभार जताया। कार्यक्रम का संचालन अध्यापक ओमप्रकाश राठौर एवं अध्यापिका श्रीमती कल्पना हाड़ा ने किया। इस मौके पर प्रतीक अग्रवाल, आर.के गुप्ता, के.जी. चन्द्रशेखरन, एल.के. गुप्ता, एस.के. तिवारी, एस.एस. गुप्ता, आर.के. गुप्ता, केजी पंवार, हीरालाल, जी. पारासर, कुलदीप सिंह चौहान, ए.के. पंचोली, एम.पी. शर्मा, दिलीप शर्मा, भैंसरोड़गढ़ पंचायत समिति की प्रधान सुश्री वीणा दशौरा, प्रधानाध्यापक बजरंग लाल मीणा, ग्रामवासी एवं विद्यालय का स्टाफ सहित विद्यार्थी एवं जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।