रावतभाटा– देश में मासूम बच्चियों के साथ दरिंदगी थमने का नाम नहीं ले रही है। रावतभाटा उपखंड क्षेत्र के ग्राम पंचायत मंडेसरा के भील बाहुल्य क्षेत्र के नली गांव में शुक्रवार को 10 साल की नाबालिग बच्ची के साथ बलात्कार का मामला सामने आया है। बलात्कार की घटना को अंजाम देने वाला कोई बाहरी नहीं बल्कि इसी मासूम बच्ची के चाचा का लड़का है। एक दिल दहला देने वाली घटना में मासूम 10 वर्षीय बालिका की चाचा के ही लड़के ने जिंदगी बर्बाद कर दी।
रावतभाटा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक भवानीशंकर मीणा ने जानकारी देते हुए बताया कि रावतभाटा उपखंड क्षेत्र के ग्राम पंचायत मंडेसरा के भील बाहुल्य क्षेत्र के नली गांव में कक्षा 4 में अध्ययनरत 10 साल की बच्ची के साथ रेप मामला सामने आया है। रावतभाटा उपखंड क्षेत्र के ग्राम पंचायत मंडेसरा के भील बाहुल्य क्षेत्र के नली गांव में 10 वर्षीय बच्ची घर पर अकेली थी, बालिका की माता खेत पर थी, एवं पिता रावतभाटा थे। नाबालिग बच्ची को घर में अकेला देख मौका देखकर चाचा के लड़के श्यामलाल भील पुत्र राजू भील निवासी नली ने घर में घुसकर नाबालिग बच्ची के साथ कुकर्म किया। सूचना के बाद बालिका को उसकी भुआ रावतभाटा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाई, जंहा चिकित्सक ब्लॉक मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. जी.जे. परमार एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चिकित्सालय के प्रभारी डॉ. अनिल जाटव ने मेडिकल बोर्ड द्वारा जांच कर बालिका का उपचार किया। तथा पुलिस को सूचित किया। जंहा सूचना मिलने पर रावतभाटा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक भवानीशंकर मीणा ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चिकित्सालय रावतभाटा पहुंचकर चिकित्सकों से बालिका की जानकारी ली। तथा बच्ची से मिलकर पूरे मामले की गहनता से जानकारी प्राप्त की। तथा बालिका को कोटा मेडिकल कॉलेज चिकित्सालय में रैफर करवाया गया। वहीं पुलिस ने मामले में सतर्कता दिखाते हुए रावतभाटा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक भवानीशंकर मीणा के नेतृत्व में रावतभाटा थानाधिकारी वीरेंद्र सिंह, भैंसरोड़गढ़ थानाधिकारी पर्वत सिंह सोलंकी एवं जावदा थानाधिकारी शंकरलाल ओड़ की टीम का गठन कर आरोपी की तलाश शुरू कर दी है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक भवानीशंकर मीणा ने बताया कि आरोपी का सुराग लग गया है, जल्द ही आरोपी को गिफ्तार कर लिया जाएगा। घटना की सूचना मिलते ही रावतभाटा नगर के कई समाजसेवी चिकित्सालय पहुंचे, जंहा बच्ची की सहायता के लिए आगे आए। इस मौके पर मंडेसरा सरपंच बंशीलाल भील सहित कई जनप्रतिनिधि व गणमान्य नागरिक मौजुद रहे।