रामगंजमंडी-अजयराज सिंह चौहान (ब्यौरा चीफ़)

रामगंजमंडी न्यायालय में 30 हजार की जमानत पेश करनी पड़ी सांसद विधायको को ,
अक्सर आम जनता को नेताओ का इंतजार करना पड़ता है लेकिन बुधवार को न्ययालय में एक प्रकरण की सुनवाई के दौरान सांसद और विधायकों को 3 तीन घण्टे न्यायालय के बाहर अपना नम्बर आने का इंतजार करना पड़ा ,उल्लेखनीय है
कोटा झालावाड़ राष्ट्रीय राजमार्ग 12 की बदहाल सड़क निर्माण की मांग को लेकर कोटा सांसद ओम बिरला, कोटा विधायक भवानीसिंह राजावत , रामगंजमंडी विधायक चन्द्रकान्ता मेघवाल व पूर्व विधायक अनिल जैन सहित कार्यकर्तओं ने सड़क मार्ग ढाबादेह चोराये पर 4 घण्टे जाम कर धरना दिया था जिसमें मोड़क पुलिस द्बारा चारो विधायकों सहित
49 भाजपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ रामगंजमंडी क्षेत्र के मोड़क थाने प्रकरण दर्ज किया गया था बुधवार को प्रकरण की सुनवाई पेशी होने के कारण सभी भाजपा नेता कार्यकर्तओं के साथ न्यायालय परिसर दोपहर 12,30 बजे न्यायालय परिसर पहुँचे अधिवक्ता द्वारा सभी विधायकों के ज़मानत सम्बंधित दस्तावेज जो पूर्व में तैयार कर रखे थे न्यायिक मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किये लेकिन न्यायालय में अन्य प्रकरणों की सुनवाई के कारण 3 घण्टे बाद भाजपा नेताओं की फाइल के नम्बर पर आया जिसके कारण सभी नेताओं को तीन घण्टे इंतजार करना पड़ना पड़ा इस दौरान सांसद और विधायक अभिभाषक परिषद भवन में बैठ कर कार्यकर्ताओं से चर्चा करते रहे दोपहर समय 3,30 पर न्यायाधीश के समक्ष पेश हुवे, ज़मानती दस्तावेजो हस्ताक्षर किये 30 -30 हजार की जमानत पेश की और 10 मिनट के अंतराल मैं रवाना हो गए , जबकि 4 जनप्रतिनिधियों को छोड़ कर शेष 44 कार्यकर्तओं को अपनी बारी आने का इंतजार करना पड़ा