रामगंजमंडी-अजयराज सिंह चौहान (ब्यौरा चीफ़)

रामगंजमंडी , वर्तमान समय मे भ्रष्टाचार जीवन के हर क्षेत्र में व्याप्त है, पर कुछ उदाहरण ऐसे मिल जाते है जो दर्शा देते है कि ईमानदारी अभी भी जिंदा है। ऐसा ही वाकया रविवार को शहर में देखने को मिला जब स्टेशन के बाहर चाट का ठेला लगाने वाले केशव शर्मा को पांच हजार रुपये से भरा पर्स मिला जिसे केशव ने उसके वास्तविक मालिक के पास लौटा दिया। शहर के इंद्रप्रस्थ कॉलोनी निवासी प्रदीप सिंह का स्टेशन के समीप पर्स गिर गया था जिसमे पांच हजार रुपये व महत्वपूर्ण डॉक्यूमेंट रखे थे। पर्स पास ही एक चाट का ठेला लगाने वाले केशव को मिला जिसने ईमानदारी का परिचय देते हुए पर्स में रखे परिचय पत्र के आधार पर प्रदीप सिंह से सम्पर्क कर उसे उसका पर्स लौटा दिया। अपना पर्स व डॉक्यूमेंट पाकर प्रदीप भी काफी खुश दिखाई दिया उसने केशव को कुछ ईनाम भी देना चाहा जिसे लेने से केशव ने इनकार कर दिया। इस वाकये को जिसने भी देखा उसने यही कहा “ईमानदारी अभी भी जिंदा है”