रामगंजमंडी -अजयराज सिंह चौहान(पत्रकार)

धाकड़ युवा संघ रामगंजमंडी ने गाँव गाँव मे 15 पौधे लगाकर उनके संरक्षण की ली जिम्मेदारी

रामगंजमंडी क्षेत्र को हराभरा बनाने के लिए धाकड़ युवा संघ ने विशेष पहल की है। इसके तहत युवा संघ के सदस्य अपने गांवों में न केवल छायादार पेड़ों के पौधे लगाएंगे, व उनके बड़े होने तक सुरक्षा करेंगे। इसके लिए सदस्यों ने लक्ष्य भी तय किए गए हैं। यह सब होगा बिना किसी सरकारी मदद के। सदस्य खुद ही इसके लिए राशि मिलाएंगे। रामगंजमंडी उपखंड क्षेत्र में शहर सहित कई गांवों में धाकड़ समाज बहुतायत में रहता है। इस समाज के युवाओं का संगठन है धाकड़ युवा संघ। संघ ने कुछ समय पूर्व ही गांव-गांव तक अपनी कार्यकारिणी का विस्तार किया है। गत दिनों शहर के गोरधनपुरा माताजी मंदिर पर हुई संघ की बैठक में युवाओं ने क्षेत्र के लिए कुछ अलग करने की चर्चा की तो पर्यावरण संरक्षण के लिए सहमति बनी। इस पर संघ के सदस्यों ने निर्णय लिया कि वे शहर के साथ हर गांव में इस बारिश में पौधे लगाएंगे। इन पौधों को पेड़ बनने तक संरक्षित करेंगे।

पौधे मंदिर और सार्वजनिक स्थानों पर लगाये जायेंगे

धाकड़ युवा संघ के अध्यक्ष रामस्वरूप धाकड़ ने बताया कि क्षेत्र में समाज के हर गांव में कार्यकारिणी के सदस्य है। उनसे गांवों में छायादार पेड मय ट्री गार्ड लगाने की सूची मांगी गई है। प्रत्येक गांव में कम से कम 15 पौधे लगाने का लक्ष्य है। पौधों के साथ इनके लिए ट्री गार्ड की व्यवस्था भी संघ के सदस्य ही आपस में मिलकर करेंगे। खास बात यह है कि इन पौधों को लगाने में सार्वजनिक स्थानों को प्राथमिकता दी जाएगी। यह गांव का मंदिर, समाज का सामुदायिक भवन या सरकारी स्कूल परिसर होंगे, जहां पौधे लगाएं जाएंगे। पौधे लगाने के साथ गांव के सदस्यों की जिम्मेदारी होगी कि पौधा सूखे नहीं।एक जैसे ट्री गार्ड लगाएंगे, सदस्यों की सूची बनेगी रामस्वरूप बताते हैं कि यह तो इस वर्ष का लक्ष्य है। इसके नतीजे देखकर अगले साल और अधिक पौधे लगाने की योजना बनाएंगे। संघ के कोषाध्यक्ष सुरेश धाकड़ बताते हैं की सब गांवों में एक जैसे ट्री गार्ड लगाने की योजना है। इसके लिए संघ की ओर से एक साथ ही ट्री-गार्ड बनवाएं जाएंगे। उन्होंने बताया कि सबसे पहले पहल करते हुए समीपवर्ती हरिपुरा गांव के युवाओं ने 24 पौधे लगाने के साथ उनके लिए ट्री गार्ड की व्यवस्था करने वाले सदस्यों की सूची भी बना दी है। वहीं कुंडाल क्षेत्र के युवाओं ने इस पहल को देखते हुए इस साल घाटा वाला माताजी मंदिर के रास्ते पर 150 पौधे लगाने का निर्णय लिया है।