रावतभाटा – शिव सिंह चौहान (पत्रकार) रावतभाटा उपखंड की ग्राम पंचायत जावदा में सोमवार को आयोजित राजस्व लोक अदालत अभियानः न्याय आपके द्वार-2018 शिविर में उपखंड एवं तहसील के 1 हजार 440 राजस्व प्रकरणों का मौके पर ही निस्तारण किया जाकर ग्रामीणों को राहत प्रदान की गई। क्षेत्र में राजस्व संबंधी समस्याओं के त्वरित समाधान के लिए न्याय आपके द्वार अभियान के तहत लगाए जा रहे राजस्व शिविरों में राहत बरस रही है। ग्रामीणजन घर के समीप ही राजस्व संबंधी समस्याओं का समाधान होने से राहत महसूस कर रहे हैं।
शिविर में उपखण्ड के कुल 54 प्रकरणों में धारा 136 खाता दुरूस्ती के 39, धारा 53 विभाजन का 1, धारा 88 खातेदारी घोषणा के 4, इजराय के 2 एवं अन्य यथा धारा 86, 183 (ए), आर.टी. एक्ट इत्यादि 8 मामलों का निस्तारण किया गया। तथा तहसील के 1 हजार 386 प्रकरणों का निस्तारण किया गया। जिसमें धारा 135 नामान्तरण के 87, खाता दुरस्ती के 453, खाता विभाजन के 10, प्राप्त सीमाज्ञान के आवेदनों की संख्या 1, गैर खातेदारी से खातेदारी के 2, धारा 251 का 1 एवं 456 राजस्व नकले जारी की गई। तथा अन्य 376 प्रकरणों में पासबुक नवीनीकरण 25, प्रधानमंत्री आवास प्रपत्र तस्दी 276, जीएसस के 45 आवेदन एवं 30 जाति प्रमाण पत्र का वितरण किया गया।
ग्राम पंचायत जावदा में आयोजित शिविर में 42 वर्ष से अपनी जमीन पर मालिकाना हक पाने के लिए चक्कर लगा रहे प्रेमपुरा निवासी प्रभु पुत्र रत्ता बलाई एवं देवा पुत्र लखा बलाई को सोमवार को न्याय मिला। शिविर में आकर प्रभु पुत्र रत्ता बलाई एवं देवा पुत्र लखा बलाई निवासी प्रेमपुरा ने अधिकारियों को प्रकरण से अवगत करवाया जिस पर त्वरित कार्यवाही करते हुए कुछ ही समय में प्रभु पुत्र रत्ता बलाई एवं देवा पुत्र लखा बलाई निवासी प्रेमपुरा को गैर खातेदारी से खातेदारी का अधिकार प्रदान कर राहत दी गई। प्रभु पुत्र रत्ता बलाई एवं देवा पुत्र लखा बलाई निवासी प्रेमपुरा को 42 वर्ष बाद खातेदारी का अधिकार पत्र मिलने पर प्रशासनिक अधिकारियों का आभार व्यक्त करते हुए धन्यवाद दिया। वहीं परिजनों के चेहरे पर खुशी की लहर दौड़ गई।

न्याय आपके द्वार शिविर में उपजिला कलेक्टर कैलाशचंद्र शर्मा व तहसीलदार श्रीकांत व्यास ने ग्रामीणों से कहा कि राज्य सरकार द्वारा ग्राम पंचायत में लगाए गये राजस्व लोक अदालत न्याय आपके द्वार शिविर का अधिकाधिक लाभ उठावें।
रावतभाटा उपजिला कलेक्टर कैलाशचंद्र शर्मा ने कहा कि श्रम विभाग की निर्माण श्रमिक कल्याण योजना व पालनहार योजना से अधिकाधिक लाभ उठाए। उन्होंने शिविर में विभागीय अधिकारियों से शिविर में किये जा रहे कार्यों की प्रगति के सबंध में भी जानकारी ली।
उन्होने राजस्व लोक अदालत न्याय आपके द्वार-2018 शिविरों में ग्रामवासियों की छोटी से छोटी व बड़ी से बड़ी समस्या का समाधान कराकर लाभ उठाने को कहा। उन्होने कहा कि एलईडी के बल्ब से बिजली की बचत होगी एवं बिल की राशि भी कम होगी। उन्होंने ग्रामीणों से आह्वान करते हुए कहा कि गांव को एलईडी यूक्त करके ताकि बिजली की बचत हो।
राजस्व लोक अदालत अभियानः न्याय आपके द्वार-2018 शिविर में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग में वृद्धावस्था पेंशन के 25, दिव्यांग पेंशन के 2, विधवा पेंशन के 5 एवं पालनहार योजना के 11 प्रकरणों का निस्तारण किया गया। पशुपालन विभाग के पशु बीमा योजना में 5 पशुओं का बीमा किया गया। तथा 21 को पर्याप्त दवाईयों का वितरण किया गया। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग में चिकित्सकों द्वारा शिविर में 176 रोगियों की जांच की गई, एवं 163 रोगियों को दवा का वितरण किया गया। महिला एवं बाल विकास विभाग में प्रधानमंत्री मातृत्व वंदन योजना से 325 लाभार्थियों को लाभान्वित किया गया। ऊर्जा विभाग में सभी तरह के नए विद्युत कनेक्शनों के प्राप्त 32 आवेदनों में से 5 प्रकरणों का निस्तारण किया गया। तथा 100 एलईडी लाईटों का वितरण किया गया।
शिविर में जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के अन्तर्गत मौके पर 5 हैंडपंपों की मरम्मत की गई। तथा 14 के पानी की उपलब्धता या गुणवŸाा की जांच की गई। साथ ही जनता जल योजना से संबंधित 3 जनों के समस्याओं का निराकरण किया गया। ग्रामीण विकास विभाग में 5 लाभार्थियों को एसबीएम का भुगतान किया गया। तथा प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 8 किश्तों का भुगतान किया गया। श्रम विभाग में निर्माण श्रमिकों का पंजीकरण में 20 श्रमिकों का पंजीकरण किया गया। तथा निर्माण श्रमिक कल्याण योजना के स्वीकृति के 8 आदेशों का वितरण किया गया। कृषि विभाग की ओर से 27 मिनी किट का वितरण किया गया। खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति रसद विभाग द्वारा खाद्य सुरक्षा योजना में 1 परिवार को शामिल करने के प्रकरणों का निस्तारण किया गया।
इस मौके पर रावतभाटा उपजिला कलेक्टर कैलाशचंद्र शर्मा, तहसीलदार श्रीकांत व्यास, भैंसरोड़गढ़ पंचायत समिति प्रधान सुश्री वीणा दशौरा, भैंसरोड़गढ़ पंचायत समिति के विकास अधिकारी कालूराम मीना, प्रशांत सिंह चैधरी, ग्राम पंचायत जावदा सरपंच गंगाराम भील, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र जावदा के डाॅ. सुदेश राघव, पशुपालन विभाग से डाॅ. छोटूराम चैधरी, आयुर्वेद चिकित्सक डाॅ. कैलाशचन्द मीणा, अजमेर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड के सहायक अभियंता बी.एल. मेघवाल, सहायक कृषि अधिकारी धनपाल शर्मा, आई.ए. डीओआईटी एंड सी भंवरलाल मेघवाल, अजमेर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड के कनिष्ठ अभियंता देवेंद्र नागर, कृषि पर्यवेक्षक कैलाश जाट सहित कई विभागों के अधिकारी, कर्मचारी एवं बड़ी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित थे।