राजस्थान के नमाचीन 147 कलाकारो की चुनिन्दा कलाकृतियो की प्रदर्शनी ‘‘राजस्थान 147’’ का मंगलवार सांय महाराष्ट्र के सांस्कृतिक मामलात मंत्री विनोद एस. तावडे मुम्बई में दीप प्रज्ज्वलित विधिवत् शुभारम्भ करते हुए।

रावतभाटा – शिव सिंह चौहान (पत्रकार) राजस्थान के नमाचीन 147 कलाकारो की चुनिन्दा कलाकृतियो की प्रदर्शनी ‘‘राजस्थान 147’’ का मंगलवार सांय महाराष्ट्र के सांस्कृतिक मामलात, खेल एवं युवा मामले तथा स्कूल शिक्षा मंत्री विनोद एस. तावडे ने दीप प्रज्ज्वलित विधिवत् कर शुभारम्भ किया।
मुम्बई के जहांगीर आर्ट गैलेरी में राजस्थान ललित कला अकादमी की ओर से आयोजित इस प्रदर्शनी में प्रदर्शित कलाकृतियाें को देख मंत्री अभीभूत हो दांतो तले अंगुली दबाने पर मजबूर हो गए। उन्होंने इन कलाकृतियो की काफी सराहना की तथा उपस्थित कलाकारों से बारिकियो को समझा। प्रदर्शनी में मंत्री ने राजस्थान के 147 कलाकारों व उनकी कलाकृतियो के परिचय के रूप में अकादमी द्वारा प्रिन्ट कैटलाग का विमोचन भी किया।

प्रारम्भ में राजस्थान ललित कला अकादमी के अध्यक्ष डॉ. अश्विन एम. दलवी सहित अनेक कलाकारो ने महाराष्ट्र के मंत्री का पुष्पगुच्छ से स्वागत किया। डॉ. दलबी ने मंत्री तावडे को कला दीर्घा में स्थापित अनेक कलाकृतियो का अवलोकन कराया। उन्होंने राजस्थान सरकार द्वारा अकादमी के माध्यम से विभिन्न कलाओ के संरक्षण एवं कलाकारो के पोषण, उन्नयन, प्रोत्साहन के लिए किए जा रहे कार्यो की विस्तार से जानकारी भी दी। अध्यक्ष डॉ. दलबी ने मंत्री तावडे को राजस्थान ललित कला अकादमी की गतिविधियों एवं नवाचारो से भी अवगत कराया। डॉ. दलवी ने बताया कि इस प्रदर्शनी में राजस्थान की समसामयिक कला धारा जिसमें मिनिएचर, पेन्टिंग, प्रिन्टिंग्स, ग्राफिक्स, मूर्ति शिल्प सहित अनेक परम्परागत कला कौशल दर्शको के कौतुहल का विषय है।
प्रदर्शनी में दिवंगत कलाकार रणजीत सिंह चुडावत एवं सुरेन्द्रपाल जोशी की कलाकृतियो को भी अकादमी की ओर से प्रदर्शित किया जा कर उन्हें श्रद्धांजलि भी दी गई। प्रदर्शनी में ख्यातनाम कलाकार पद्यश्री अर्जुन प्रजापति एवं शाकिर अली तथा चरन शर्मा, अशोक गौड, अंकित पटेल, युगलकिशोर शर्मा, शैल चोयल, अब्बास बाटलीचाला सहित राज्य के चयनित कलाकारो की कला विधाओ का प्रदर्शन किया गया है।

प्रदर्शनी में मैटल स्क्रेप कलाकृति ‘‘द गोट’’, पैन व इंक ‘‘ड्राईंग‘‘, एक्रेलिक आन कैनवास में ‘‘डेजर्ट इन लैण्ड स्कैप’’ ‘‘पन्ना मीना कुण्ड’’, ब्लैक मार्बल्स ‘‘लाईफ आफ वामा’’, लाईम स्टोन ‘‘अनटाईटल्स’’ कलाकृतिया काफी चर्चित रही।
कार्यक्रम के दौरान अकादमी सचिव डॉ. सुरेन्द्र कुमार सोनी, प्रदर्शनी क्यूरेटर डॉ. लोकश जैन, चरण शर्मा, शरद भारद्वाज, कृष्णा महावर सहित अनेक कलाकार तथा राजस्थान विकास परिषद मुम्बई के अध्यक्ष राजेन्द्र दाधीच, सहायक आवासीय आयुक्त मनोज सिंह, महेन्द्र पी. जैन, सहित अनेक प्रवासी राजस्थानी संगठनो के पदाधिकारी, पत्रकार एवं कला प्रेमी उपस्थित थे। अकादमी अध्यक्ष ने मुम्बई एवं उप नगरो के कला प्रेमियो को आग्रह किया कि वे ज्यादा से ज्यादा तादात में आ कर इस बेजोड कला प्रदर्शनी में कलाकारो के हुनर, परिकल्पना, कौशल एवं भावनाओ से रूबरू हो लाभ उठाए एवं उनकी हौसला अफजाई भी करे। यह प्रदर्शनी 2 जुलाई 2018 तक प्रातः 11 से सांय 7 बजे तक दर्शको के अवलोकनार्थ निःशुल्क उपलब्ध रहेगी।