छबड़ा- जमनालाल यादव (पत्रकार)

रीढ़ की हड्डी मे छेद होने के कारण एक पीड़ित ने अपनी जिंदगी का सबकुछ दांव पर लगा देने पर भी उचित उपचार नही मिल पाया। पीड़ित के उपचार का बीड़ा उठाने के लिए पालिका क्षेत्र के कई समाजसेवको द्वारा एकत्रित किए साढ़े पचपन हजार रूपए का चैंक थानाधिकारी ताराचंद बंशीवाल ने सौंप दिया हैं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार पालिका क्षेत्र की पुरानी अदालत के पीछे निवास करने वाले नवल शर्मा के कई वर्षो से रीढ़ की हड्डी मे छेद है। जिसके उपचार के लिए पीड़ित नवल शर्मा ने अपनी जिंदगी का सबकुछ दांव पर लगाने पर भी उचित उपचार नही हो सका। पीड़ित नवल शर्मा ठीक तरह से चल-फिर भी नही सकता था एवं पत्नी व उसके चार बच्चो का ठीक तरह से पालन-पोषण भी नही कर पा रहा था। रीढ़ की हड्डी मे छेद होने के कारण नवल अपना रोजगार भी गंवा चुका था। इस पीड़ित गरीब, असहाय के लिए कस्बे के कई समाजसेवकों ने उपचार के लिए सहायता अभियान शुरू किया एवं इस अभियान के चलते गत दो दिनो मे पचपन हजार पांच सौं रूपए एकत्रित किए गए। इस सहायता अभियान मे छबड़ा, छीपाबडौद, कवाई के सैंकड़ो लोगो ने आर्थिक सहायता प्रदान की। अब शायद ऐसा प्रतीत हो रहा हैं मानो नवल शर्मा को नई जिंदगी मिल सकती हैं। समाजसेवको द्वारा एकत्रित किए गए साढ़े पचपन हजार रूपए का चैंक थानाधिकारी ताराचंद बंशीवाल ने पीड़ित नवल शर्मा के घर पहुंचकर सौंप दिया हैं। साथ ही कुछ लोगो व कोचिंग संस्थानो नें बच्चो की पढ़ाई का खर्चा एवं एक स्टेशनरी बुक सेलर ने बच्चो की पढ़ाई के लिए उपयोग मे आने वाली पाठ्य-सामग्री देने की घोषणा भी कर दी हैं। सीआई बंशीवाल ने कोटा के मेड़िकल कॉलेज में दूरभाष पर बात कर पीड़ित की हर संभव मदद करने का भी आश्वासन दे दिया हैं।