रावतभाटा – शिव सिंह चौहान (पत्रकार) गत दिनों पूर्व भैंसरोड़गढ़ पंचायत समिति की प्रधान एवं बैंक मैनेजर के बीच हुए विवाद को लेकर प्रधान का समर्थन करते हुए स्वतंत्र व निष्पक्ष जांच करवाने को लेकर राजस्थान सरपंच संघ इकाई भैंसरोड़गढ़ द्वारा शुक्रवार को जिला कलेक्टर के नाम का रावतभाटा उपजिला कलेक्टर कैलाशचंद्र शर्मा को ज्ञापन सौंपा।
राजस्थान सरपंच संघ इकाई भैंसरोड़गढ़ की शुक्रवार को बैठक आयोजित की गई। जिसमें गत दिनों पूर्व पूर्व भैंसरोड़गढ़ पंचायत समिति की प्रधान सुश्री वीणा दशौरा एवं बैंक ऑफ बड़ौदा के मैनेजर कुलदीप सिंह के बीच हुए विवाद को लेकर बैंक प्रबंधक द्वारा पंचायत समिति भैंसरोड़गढ़ प्रधान के खिलाफ राजकार्य में बाधा का मामला दर्ज करवाया गया है, इस संबंध में पंचायत समिति भैंसरोड़गढ़ प्रधान सुश्री वीणा दशौरा के पक्ष में समर्थन करते हुए राजस्थान सरपंच संघ इकाई भैंसरोड़गढ़ के पदाधिकारियों ने कहा कि जनप्रतिनिधि हमेशा जनता के बीच रहकर जनता की समस्या के समाधान के लिए विभाग के कर्मचारियों एवं बैंकों के अंदर जाकर जनता की समस्या का समाधान करवाते है, इस बीच कर्मचारियों के जनप्रतिनिधि के प्रति रूखे व्यवहार के कारण कहासुनी हो जाती है, जिसे नजरअंदाज कर दिया जाना चाहिए, लेकिन जनप्रतिनिधियों के खिलाफ कर्मचारियों द्वारा केस दर्ज करवा दिया जाता है, जिसकी राजस्थान सरपंच संघ इकाई भैंसरोड़गढ़ द्वारा घोर निंदा की गई। तथा ज्ञापन सौंपकर मांग की कि बैंक प्रबंधक एवं पंचायत समिति भैंसरोड़गढ़ प्रधान के बीच जल्द ही सुलह करवाया जाए। ज्ञापन देने वालों में राजस्थान सरपंच संघ इकाई भैंसरोड़गढ़ के अध्यक्ष सुरेश कुमार लबाना, टोलु का लुहारिया सरपंच मुकेश ऐरवाल, बाड़ौलिया सरपंच श्रीमती काली बाई मीणा, झालरबावड़ी चारभुजा सरपंच श्रीमती चंद्रज्योति चुंडावत तमलाव, निर्मला धाकड़, गंगाराम भील, राधा बाई भील, झरझनी सरपंच बीना मीणा, मंडेसरा सरपंच बंशीलाल भील, बरखेड़ा सरपंच चौथमल भील, खातीखेड़ा सरपंच श्रीमती मधु शर्मा, एकलिंगपुरा सरपंच सत्यनारायण धाकड़, जालखेड़ा सरपंच कैलाश बाई धाकड़, बलकुंडीकलां सरपंच चंदा बाई धाकड़, श्रीपुरा सरपंच हेमा जायसवाल, लुहारिया सरपंच कामड मेघवाल सहित कई सरपंच मौजुद थे।