महाराणा प्रताप जयंती की पूर्व संध्या पर हुई विभिन्न अखाड़ो की शस्त्र प्रतियोगिता

कोटा– महाराणा प्रताप जयन्ती की पूर्व सन्ध्या पर गुरुवार रात को गोदावरी धाम मंदिर परिसर में शस्त्र प्रतियोगिता हुई। सनातन धर्म अखाड़ा समिति के बैनर तले हुई इस प्रतियोगिता में कोटा व बूंदी शहर के 24 अखाड़ो के पट्टो ने कई हैरत अंगेज करतब दिखाए। लाठी, चक्र, तलवारबाजी, भाला सहित कई शस्त्रों का हेरत अंगेज करतब देखने को मिला। मंदिर परिसर में विभिन्न अखाड़ो के पहलवानों के करतब को देखने के लिए बड़ी संख्या में लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा।
कार्यक्रम के आयोजक महेश गौतम लल्ली ने कहा कि महाराणा प्रताप जयंती की पूर्व संध्या पर आयोजित यह आयोजन आगे भी भव्यता के साथ होता रहेगा। प्रतिभाओ को मंच मुहैया हो इसके लिए आगे भी हरसंभव प्रयास होंगे। कार्यक्रम स्थल पर ढोल की थाप के साथ लकड़ी चक्र तलवार व बरनेटी जिसमे महिलाओं व युवाओ ने काफी उत्साह वर्धक प्रदर्शन किया।जिसमे आयोजक – महेश गौतम (लल्ली) ने बताया की इतिहास मे महाराणा प्रताप की भुमिका अग्रणी रही है। प्रताप ने अन्याय व अत्यचार के खिलाफ अभिमान से जीने के लिये सदैव संघर्ष का रास्ता दिखाया है। मुख्य अतिथि शेलेन्द्र भार्गव संस्तापक गोदावरी धाम व उप महापौर सुनीता व्यास ने शश्त्रो की पूजन कर कार्यक्रम का विधिवत शुभारम करवाया। सनातन धर्म अखाड़ा समिति के अध्यक्ष शराधाबल्लभ शर्मा, कोषाध्यक्ष भवर सिंह पंवार, महामंत्री सुरेन्द्र परासर, पार्षद जगदीश मोहिल, इंद्र कुमार दत्ता, हरीश शर्मा, तेज करण अंची आदि मौजूद थे। प्रतिभागियों को पुरूस्कृत किया गया।