कोटा– पत्रकार कविश ने बताया कि क्लेरिफायर 1 के आस पास एक ठेका श्रमिक ने अपनी जान खतरे में डाल के लिया एक वीडियो लिया है जो दिखाता है कि कोटा थर्मल में दीमक के जैसे जमे हुए अधिकारियों ने प्लांट सुरक्षा या प्लांट हित के लिये क्या किया है आज तक। वीडियो में स्पष्ट तौर पे नज़र आ रहे दो जंगली भालू ये पुष्टि करते हैं कि प्लांट परिसर से तेंदुए और भालू देखे जाने की घटनाओं में कितना सच है।

देखे वीडियो

यदि इन जानवरों ने किसी कर्मचारी पे हमला किया या किसी कर्मचारी की जान ले ली तो क्या कार्यवाहक अतिरिक्त मुख्य अभियंता इनकी ज़िम्मेदारी लेंगे या क्या प्लांट परिसर के विजिलेंस अधिकारी और वर्षो से यहाँ जमे हुए सहायक अभियंता इस घटना को अपनी लापरवाही मानेंगे।