कोटा- लहसुन की उपज लक्ष्य 15 लाख क्विंटल की खरीद सुनिश्चित करने हेतु समुचित व्यवस्था करने एवम् बाईपास किसानों की जमीन का मुआवजा देने हेतु आज एक दिवसीय धरना सांसद ओम बिड़ला के निवास पर दिया गया।

सांसद नहीं मिलने पर ज्ञापन उनके गेट पर चस्पा कर दिया। केंद्रीय कृषि मंत्री एवम् मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन संभागीय आयुक्त के जरिए भी भिजवाया गया। कोटा, बूंदी,बारां जिले के किसानों ने सरकार के खिलाफ जोरदार नारबाजी करते हुए सरकार को चेतावनी दी है और मांग की है कि लहसुन की खरीद की तारीख 30 जून तक बढ़ाने, मानदंडों में 10 प्रतिशत छूट देने,खरीद केंद्रों की समुचित व्यवस्था करने,पंजीकरण निरंतर चालू रखने, 50,000 रू तक सभी किसानों का कर्ज माफ करने,जंगली जानवरों से नष्ट फसलों का मुहावजा देने व फसलों की सुरक्षा करने हेतु इन जानवरों को घने जंगल में शिफ्ट करने, नरेगा कर्मियों को पूरी मजदूरी देने, गावों में पेयजल की आपूर्ति करने आदि मांगों को पूरा किया जावे। ज्ञापन देने वालों में दुलीचन्द बोरदा,के एल जैन, फौजी बलदेव सिंह, आदित्य देव, अब्दुल हमीद, फजर मोहम्मद,बाबूलाल बैरवा,विजय राघव, धर्मेन्द्र शर्मा,ब्रज राज,बद्री लाल सेन, राम गोप मीणा और नॉर्दर्न बाईपास के किसान हेम राज,घनश्याम,बद्रीलाल आदि शामिल थे।